घने कोहरे में भाजपा विधायक भाई की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार

Gwalior, Madhya Pradesh, India
    घने कोहरे में भाजपा विधायक भाई की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार

लोगों ने लालजी  कुशवाह को सड़क किनारे गिरा देखा था, जिसके बाद वे उन्हें अस्पताल लेकर गये थे। मृतक भाजपा विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह का चचेरा भाई है।

ग्वालियर/ भिण्ड। भिण्ड विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह के भाई लालासिंह कुशवाह की  अज्ञात हमलावरों ने गोली मार कर हत्या कर दी है। लालजी सुबह के समय घर से मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। लोगों नेलालजी कुशवाह को सड़क किनारे गिरा देखा था, जिसके बाद वे उन्हें अस्पताल लेकर गये थे। मृतक भाजपा विधायक  नरेंद्र सिंह कुशवाह का चचेरा भाई है।

लहार चुंगी के पास डायवर्सन रोड़ निवासी लालजी कुशावाह (45) पुत्र तहसीलदार सिंह कुशवाह सुबह के  समय 5 बजे के करीब घर से मॉर्निंग वॉक पर निकले थे।  घर से करीब 250 मीटर की दूरी पर सर्किट कुछ लोगों ने लालजी को सड़क किनारे पड़ा देखा। पहले तो लोगों को लगा की लालासिंह को हार्ट अटैक आया है।

उन्होंने तुरंत लालजी के घरवालों को घटना की जानकारी दी। सभी लोग लालसिंह को लेकर निजी अस्पताल पहुचें। वहां डॉक्टरों ने लालजी के कपड़े उतार कर देखा तो शरीर के पीछे पीठ पर गोली लगने के दो निशान दिखे। डॉक्टरों ने लालजीकी नब्ज टटोली लेकिन तब तक लालजी की मृत्यु हो चुकी थी। पुलिस भी जानकारी लगते ही तुरंत घटना स्थल पर पहुंची और घटना की जानकारी ली। वहां मौजूद लोगों की कहना है कि उन्होनें किसी को भी लालजी को गोली मारते नहीं देखा। पुलिस ने शव का पीएम कराकर घरवालों को सुपुर्द कर दिया। पीएम 10.30 बजे किया गया था।


भाजपा नेता और लोगों का  लगा हुजूम
लालजी कुशवाह हवलदार का पुरा ग्राम के रहने वाले हैं। लेकिन अपने परिवार सहित भिण्ड में ही रह रहे थे। लालजी भिण्ड विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह के चचेरे भाई हैं। जिस कारण से उनका भी था रौब शहर में। घटना की जानकारी मिलते ही नरेंद्र सिंह कुशवाह तुरंत घटना स्थल पर पहुंचे। साथ ही सैकड़ों भाजपा समर्थक भी लालजी कुशवाह के  निवास स्थान पर पहुंचे। विधायक के भाई की हत्या हो जाने के कारण घटना स्थल पर एसपी नवनीत भसीन, एएसपी अमृत मीणा, सिटी थाना टीआई आसिफ मिर्जा बेग भी घटना स्थल पहुचे हैं।


पुलिस का कहना है कि लालजी को गोली मारते वक्त किसी ने भी हमलावरों को नहीं देखा है। पुलिस ने छानबीन शुरु कर दी है। पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि लालसिंह की किसी के साथ दुश्मनी तो नहीं थी।

पुलिस का अंदेशा
पुलिस का अंदेशा है कि यह किसी ऐसे व्यक्ति का काम है जिसे यह जानकारी थी कि लालजी हर रोज मॉर्निंग वॉक पर जाते हैं। जैसे ही उसे मौका मिला एकांत देख कर गोली मार दी। पिछले दो दिन से कोहरा भी छा रहा है। जिसका फायदा उठाते हुए गोली मारकर गायब हो गये।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned