अस्पताल पहुंच रहा हर दूसरा मरीज वायरल की चपेट में

Gaurav Sen

Publish: Jul, 18 2017 01:47:00 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
अस्पताल पहुंच रहा हर दूसरा मरीज वायरल की चपेट में

- अस्पतालों की ओपीडी में मरीजों की संख्या में हो रहा इजाफा  

ग्वालियर. बारिश शुरू होते ही वायरल ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। इससे बचने के लिए कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। हर दूसरा शख्स वायरल से पीडि़त है। डिस्पेंसरी व अस्पतालों की ओपीडी में मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। सबसे ज्यादा छोटे बच्चे बुखार की चपेट में हैं।

जेएएच और जिला अस्पताल की मेडिसिन ओपीडी में रोजाना 200-300 मरीज सिर्फ वायरल इंफेक्शन के हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि यदि लोगों ने लापरवाही बरती तो उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बुखार या सिरदर्द का कोई भी लक्षण दिखने पर सीधे अपने नजदीकी डाक्टरों को दिखाएं। दवा खाने के बाद घर पर ही आराम करें।
क्या है वायरल फीवर

यह पीडि़त व्यक्ति के संपर्क में आने से दूसरे व्यक्ति में दाखिल होता है। इसका मुख्य कारण वातावरण में मौजूद वायरस होता है, जब कोई व्यक्ति खांसता है, छींकता या फिर किसी संक्रमित व्यक्ति से हाथ मिलाता है तो वायरस शरीर के अंदर दाखिल हो जाता है, जब वायरस व्यक्ति के अंदर जाता है तो 16 से लेकर 48 घंटे के भीतर सक्रिय हो जाता है।

ये होते हैं लक्षण

यदि एक बार वायरस शरीर के अंदर दाखिल हो गया तो उसके कुछ ही घंटों बाद बैचेनी, सिर व शरीर में दर्द, बुखार, खांसी आने लगती है। इसके अलावा नाक से पानी आना, आंखों में लालपन, कफ, ज्वाइंट में दर्द सहित कई लक्षण सामने दिखने लगते हैं। कुछ लोगों की स्किन में भी बदलाव आता है। कई बार विकराल रूप आने पर उल्टी, डायरिया, ज्वाइंडिस व जोड़ों में सूजन जैसे लक्षण भी दिखते हैं।

खुद न लें दवा, डाक्टर को दिखाएं

डॉक्टर ने बताया है कि इस मौसम में हर व्यक्ति डाक्टर बन जाता है। खुद मेडिकल स्टोर जाकर दवा ले लेता है, जबकि उसे डाक्टर को ही दिखाकर दवा लेनी चाहिए। डाक्टर ही जांच करेगा की उसे कौन सा फीवर है। इस मौसम में कई अन्य तरह के भी वायरल फैलते हैं। इसलिए बुखार आए तो तुरंत डाक्टर को दिखाएं।

ऐसे बचे रहेंगे वायरल से
1. बरसात के सीजन तक किसी से भी हाथ न मिलाएं।

2. खाने से पहले हाथ को साबुन से धोएं।
3. खांसी या छींक आए तो मुंह में रुमाल या हाथ रखें।

4. रोजाना एक्सरसाइज करें।
5. प्रोटीन युक्त डाइट का खाना खाएं

6. लक्षण दिखने पर डाक्टर से मिलें

डॉक्टर को दिखाएं

वायरल इंफेक्शन होने पर डॉक्टर को दिखाएं और घर पर ही आराम करें। इससे अन्य लोगों को वायरल नहीं होगा और बीमार लोग जल्दी ठीक होंगे।

डॉ.अजयपाल सिंह, मेडिसिन विशेषज्ञ, जेएएच

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned