पांच गांवों में फिर आग का तांडव, क्या है मामला

Gwalior, Madhya Pradesh, India
पांच गांवों में फिर आग का तांडव, क्या है मामला

किसानों को बार-बार चेतावनी देने के बाद भी वह नहीं मान रहे हैं। शुक्रवार को भी फसल कटने के बाद खेत में पड़ी नरवाई में आग लगा दी गई। तेज हवा चलने से यह आग इतनी फैली कि पांच गांवों के खेतों को अपनी चपेट में ले लिया।

ग्वालियर. पुलिस की सख्त कार्रवाई व प्रशासन की चेतावनी भी किसानों को नरवाई में आग लगाने से रोक नहीं पा रही है। शुक्रवार को नरवाई में आग लगाने पर पांच गांव में कहीं भूसा तो कहीं ट्रॉली जल गई। तेज हवा के चलते यह आग पांच गांवों के खेतों में फैल गई।

पचौरा गांव में एक किसान की भूस की ट्रॉली में आग लग गईऔर भूस जल गया साथ ही ट्रॉली के टायर जल गए और आर्थिक नुकसान हुआ।  ईटमा से शुरू हुई आग, दोपहर में तेज हवा के चलने से छिरेटा गांव से पचौरा, गड़ाजर और इकहरा गांव के खाली खेतों तक पहुंच गई।  बताते है कि ईटमा से नरवाई में लगाई गई आग से आग फैली। फायरब्रिगेड ने पहुंचकर आग पर काबू पाया। इधर, पचौरा गांव के देवेन्द्र सिंह की भूस की ट्रॉली जल गई और एक किसान की मढ़ैया में भी आग लगी है।

38 क्विंटल भूसा जला

 उधर ग्राम खेरी रायमल और देवरा में दो किसानों का 38 क्विंटल भूसा जल गई। आग  दोपहर 12 बजे लगी।  इससे खेडी रायमल के गोपाल पुत्र बाबू लाल की 20 क्विंटल भूसा जल गया और अमरसिंह पुत्र पन्नूराम का 18 क्विंटल भूसा जल गया। यहां फायरब्रिगेड करीब ढाई घंटे बाद पहुंच सकी।
  निर्देश जारी किए
 एसडीएम भितरवार व डबरा ने पिछले दिनों हुए अग्निकांड के बाद निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत जिन किसानों ने खाली पड़े खेतों में आग लगाई तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। करियावटी में हुए अग्निकांड की घटना के बाद तीन किसानों के खिलाफ रिपोर्ट तक दर्ज कराई जा चुकी है। इसके बाद भी किसान नरवाई में आग लगाने में नहीं चूक रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned