Bird Flu के आतंक के बाद फिर से खुलने जा रहा है ZOO , अब टाइगर संग ले सकेंगे सेल्फी

Gwalior, Madhya Pradesh, India
 Bird Flu के आतंक के बाद फिर से खुलने जा रहा है ZOO , अब टाइगर संग ले सकेंगे सेल्फी

अब चिडि़याघर में टाइगर और लॉयन के साथ अन्य वन्य प्राणी भी सर्दी में धूप का मजा ले सकेंगे। इसके लिए उनके केज में पहली बार लोहे के फ्रेम और लकड़ी युक्त मचान तैयार किए जा रहे हैं। 

ग्वालियर। अब चिडि़याघर में टाइगर और लॉयन के साथ अन्य वन्य प्राणी भी सर्दी में धूप का मजा ले सकेंगे। इसके लिए उनके केज में पहली बार लोहे के फ्रेम और लकड़ी युक्त मचान तैयार किए जा रहे हैं। पहला मचान टाइगर के केज में स्थापित भी किया जा चुका है, जिसके बाद उनकी अठखेलियां देखते ही बनती है। बार बार मचान पर चढऩा और नीचे उतरने में टाइगर बेहतर महसूस कर रहे हैं।

वहीं सैलानी भी मचान पर बैठे टाईगर और लॉयन का बेहतर फोटो  और सेल्फी भी ले सकेंगे। इसके साथ ही गांधी प्राणी उद्यान के अन्य स्थानों पर भवनों की प्राकृतिक रंगों से पुताई की जा रही है। धूप के लिए प्राणियों के केज में घने वृक्षों की छटाई का काम भी जारी है। वहीं छोटे आकार के पेड़ों को विभिन्न प्रकार से डिजाइन किया जा रहा है। 


वीडियो के लिए क्लिक करें- 


बर्ड फ्लू की हुई रोकथाम
18 अक्टूबर को पहली बार तीन पेन्टेड स्टार्क  पक्षियों की मौत से जू प्रबंधन हरकत में आ गया था। जब उन पक्षियों की जांच कराई तो उनमें वर्ड फ्लू की पुष्टि हुई। इस बीच 24 अक्टूबर तक सभी 24 पेन्टेड स्टार्क पक्षियों की पूरी प्रजाती ही जू में खत्म हो गई। इसके पहले ही जू को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया था।



साथ ही बर्ड फ्लू के वायरस की रोकथाम के लिए जू में हाईलेवल का डिसइन्फेक्शन का काम शुरू हुआ। घातक प्रकार के रसायनों से प्रतिदिन छिड़काव, पेड़ों की धुलाई, केज को जलाया गया, मिट्टी तक खोदकर बदली गई। तीन कर्मचारियों को कई दिनों तक नजरबंद रहना पड़ा, तब जाकर बर्ड फ्लू की रोकथाम हो सकी है।


जल्द खुलेगा चिडि़याघर
"चिडि़याघर को सैलानियों के लिए खोला जाएगा। इसके लिए पशु चिकित्सा विभाग को पत्र भेज दिया गया है। जहां से सहमति मिलने का इंतजार है।"
अनय द्विवेदी, आयुक्त नगर निगम

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned