लोकायुक्त पुलिस को देख पीला पड़ा हवलदार का चेहरा, रिश्लत लेते हुए हुआ गिरफ्तार

Gaurav Sen

Publish: Jan, 13 2017 08:10:00 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
 लोकायुक्त पुलिस को देख पीला पड़ा हवलदार का चेहरा, रिश्लत लेते हुए हुआ गिरफ्तार

हवलदार ने एक आगजनी के प्रकरण में जब्त बंदूक को छुड़वाने और मामले में सहयोग के लिए 50 हजार रुपए की रिश्वत पीडि़त से मांगी थी.....


ग्वालियर। ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने शिवपुरी फिजिकल चौकी में पदस्थ हवलदार को 8 हजार की रिश्वत लेते हुए उद्योग विभाग कार्यालय के सामने से दबोच लिया।  आगे की कार्रवाई ेसर्किट हाउस में की गई। 

हवलदार ने एक आगजनी के प्रकरण में जब्त बंदूक को छुड़वाने और मामले में सहयोग के लिए 50 हजार रुपए की रिश्वत पीडि़त से मांगी थी, बाद में 25 हजार में सौदा तय हुआ जिसमें से आवेदक ने 15 हजार रुपए पूर्व में ही हवलदार को दे दिए थे। शेष 10 में से शुक्रवार को वह हवलदार को 8 हजार रुपए देने पहुंचा, जहां लोकायुक्त पुलिस ने योजनाबद्ध तरीके से हवलदार को दबोच लिया। आरोपी हवलदार के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किय गया है।

 Image may contain: 2 people, people sitting, table and indoor

लोकायुक्त निरीक्षक कविन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि 10 जनवरी को शहर के सौनचिरैया होटल के सामने रहने वाले अनिल(48) पुत्र जगदीश त्रिपाठी ने लोकायुक्त कार्यालय में आकर शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में अनिल का कहना था कि 2 जनवरी को उसका अपने पड़ोसी से विवाद हो गया था। इस मामले में फिजिकल चौकी में पदस्थ हवलदार प्रताप रघुवंशी ने मामले में उसका सहयोग करने तथा जब्त 315 बोर की बंदूक को वापस दिलाने की एवज में 50 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी। बाद में 25 हजार में मामला फिक्स हुआ, जिसमें से वह 15 हजार रुपए 2 जनवरी को ही दे चुका है। 

पीडि़त अनिल त्रिपाठी
  Image may contain: one or more people and outdoor

शिकायत पर से 11 जनवरी को अनिल त्रिपाठी ने लोकायुक्त आरक्षक के साथ हवलदार प्रताप की रिश्वत मांगने की आवाज टेप रिकोर्डर में रिकोर्ड कर ली। इसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने हवलदार प्रताप के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर शुक्रवार को उसे रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned