न बैंड-बाजा न बारात न हुआ कोई खर्चा, दो IAS ऑफिसर ने की कैशलेस शादी

Gwalior, Madhya Pradesh, India
 न बैंड-बाजा न बारात न हुआ कोई खर्चा, दो IAS ऑफिसर ने की कैशलेस शादी

नोटबंदी के दौर में दो आईएएस अफसर ने ऐसी मिशाल पेश की है, जो युवाओं को इंस्पायर कर रही है। आईएएस ऑफिसर आशीष ने विजयवाड़ा में पोस्टेड आईएएस सलोनी से कोर्ट में बेहद सादे समारोह में शादी की। 

ग्वालियर। नोटबंदी के दौर में दो आईएएस अफसर ने ऐसी मिशाल पेश की है, जो युवाओं को इंस्पायर कर रही है। भिंड के गोहद में एसडीएम के पद पर कार्यरत आईएएस ऑफिसर आशीष ने विजयवाड़ा में पोस्टेड आईएएस सलोनी से कोर्ट में बेहद सादे समारोह में शादी की। नोटबंदी के दौर में दोनो आईएएस अफसरों ने महज 500 रुपए के खर्च पर शादी की। ये शादी विवाह पर फालतू खर्च करने वाले लोगों के लिए एक सबक है।

मौजूदा दौर में शादी में लाखों और करोड़ों रुपए खर्च कर दिए जाते है। वहीं, दो आईएएस अफसरों ने बेहद सादगी के साथ महज 500 रुपए खर्च कर शादी रचा ली। दोनों की इस शादी में कलेक्टर और एसपी मौजूद रहें। ये बड़ी ही दिलचस्प लव स्टोरी 2014 कैडर के आईएएस आशीष वशिष्ठ और सलोनी सडाना की हैं. दोनों के बीच पहला परिचय मसूरी प्रशासनिक अकादमी में ट्रेनिंग के दौरान हुआ।







ट्रेनिंग के बाद आशीष की पोस्टिंग मध्य प्रदेश में हुई, तो सलोनी को नौकरी ज्वाइन करने के लिए आंध्र प्रदेश का रूख करना पड़ा। आशीष फिलहाल भिंड के गोहद मे प्रोबेशनर आईएएस के रूप में एसडीएम हैं, तो सलोनी भी प्रोबेशनर अफसर के रूप में अपनी सेवाएं दे रही हैं। वह अभी विजयवाड़ा में एसडीएम हैं।

कैडर बदलने के लिए दोनों को विधिवत तौर पर शादी करना जरूरी था। इस वजह से एसडीएम आशीष वशिष्ठ ने भिंड के एडीएम कोर्ट में शादी के लिए आवेदन दिया था, जिस पर कोर्ट मैरिज के लिए 28 नवंबर की तारीख तय हुई थी।


तय तारीख पर सलोनी आंध्रप्रदेश से भिंड पहुंची, जहां दोनों युवा आईएएस अफसरों ने एडीएम कोर्ट में विधिवत तौर पर एक-दूसरे को वरमाला पहनाई। एडीएम टीएन सिंह ने कानूनी रूप से दोनों को पति-पत्नी घोषित कर दिया। इस शादी की एक और खास बात रही कि कलेक्टर इलैया राजा इस शादी के गवाह बने। उन्होंने गवाह के रूप में रजिस्टर पर हस्ताक्षर भी किए. दो युवा अफसरों की जिंदगी के इस खास दिन भिंड एसपी नवनीत भसीन भी मौजूद रहें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned