12 किमी दौड़े, मिन्नतें की फिर मिला कार्ड, जानिए क्या है मामला

Gwalior, Madhya Pradesh, India
12 किमी दौड़े, मिन्नतें की फिर मिला कार्ड, जानिए क्या है मामला

जीवाजी यूनिवर्सिटी में कर्मचारियों की हड़ताल बनी परेशानी 


ग्वालियर। 12 किलोमीटर दौड़कर आए है प्लीज सर आप हमारा एडमिड कार्ड हमें दे दू। यह मिन्नतें गुरुवार दोपहर को जीवाजी यूनिवर्सिटी में आए छात्रों ने जेयू के कर्मचारी से कही। जेयू में कर्मचारियों की हड़ताल का खामियाजा पीजीडीसीए प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा देने वाले छात्रों को भुगतना पड़ा रहा है।


छात्रों ने कर्मचारियों को बताया कि वे 12 किलोमीटर का सफर तय करके मुश्किल से जेयू आए हैं, हमें अंदर जाने दू। लेकिन उन्हें अंदर नहीं जाने दिया। उन्होंने दोबारा से कर्मचारियों से मिन्नतें की तभी वह अंदर जा सके। अंदर उन्होंने असिसटेंट रजिस्ट्रार अभयकांत मिश्रा को अपनी शिकायत दर्ज कराई। मिश्रा ने छात्रों की समस्या को गंभीरता से लेते हुए संबंधित कर्मचारियों से मौके पर एडमिड कार्ड निकलवाए। ये छात्र सिटी कॉलेज के थे, जिसका परीक्षा सेंटर माधव कॉलेज मेंं था। लेकिन एडमिड कार्ड न होने के कारण उन्हें परीक्षा से वंचित होना पड़ सकता था। इसकी कारण वे जेयू आए। 


आरटीआई से निकालो कॉपी, कोर्ट जाओ
बीडीएस थर्ड प्रोफ. के छात्र परीक्षा नियंत्रक डॉ.राकेश श्रीवास्तव से मिले। उनका कहना था कि जेयू ने रिव्यू का जो रिजल्ट घोषित किया है उसमें कई पास छात्रों को फेल कर दिया गया है। इस पर डॉ. कुशवाह का कहना था कि री-वैल्यूवेशन उन्होंने नहीं, एक्सपर्ट ने किया है। अगर कोई दिक्कत है तो आरटीआई के तहत अपनी कॉपी निकालिए। अगर समस्या का समाधान नहीं होता है तो आप कोर्ट जा सकते हैं।


"जेयू की हड़ताल के कारण काफी परेशानी हुई। 12 किलोमीटर से दौड़ता आया। यहां अंदर जाने से रोक दिया। मिन्नतें की, तब एडमिड कार्ड निकलवा पाया।"
संजू कुशवाह, छात्र, पीजीडीसीए, फस्र्ट सेमेस्टर 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned