पुरस्कार से बच्चे होते हैं प्रोत्साहित

Gwalior, Madhya Pradesh, India
पुरस्कार
से बच्चे होते हैं प्रोत्साहित

ग्वालियर. पुरस्कार से प्रतिभागियों में उत्साह का संचार होता है, जिससे वह अपने खेल में श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं और विजेता बनकर अपनी पहचान देश-दुनिया में कायम करते हैं।

ग्वालियर. पुरस्कार से प्रतिभागियों में उत्साह का संचार होता है, जिससे वह अपने खेल में श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं और विजेता बनकर अपनी पहचान देश-दुनिया में कायम करते हैं। हमें सदैव ही विजयी खिलाडिय़ों पुरस्कृत करना चाहिए। यह बात बतौर मुख्य अतिथि एएसपी क्राइम अलोक सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। एसोसिएशन ऑफ ग्वालियर यूथ सोसायटी द्वारा सुपर माइंड ओपन शतरंज प्रतियोगिता के विजेताओं को मंगलवार को जीवाजी क्लब में पुरस्कृत किया। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि एएसपी योगेश्वर शर्मा रहे। अध्यक्षता पूर्व सभापति बृजेन्द्र सिंह जादौन ने की। कार्यक्रम में 38 बच्चों को सम्मानित किया गया।

युवा कला महोत्सव 14 से: संस्थान द्वारा दो दिवसीय बाल एवं युवा कला महोत्सव का आयोजन 24 25 अक्टूबर को किया जाएगा, जिसमें चित्रांकन व रंगोली सजाओं प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। चित्रांकन प्रतियोगिता 24 अक्टूबर को सुबह 9:30 बजे फाइन आर्ट कॉलेज और रंगोली सजाओ प्रतियोगिता 25 अक्टूबर को फ्लैग प्वाइंट पर आयोजित की जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned