गवाह ने कहा मेरे सामने एसआईटी ने जब्त की ओआरएम सीट

gwalior
गवाह ने कहा मेरे सामने एसआईटी ने जब्त की ओआरएम सीट

व्यावसायिक परीक्षा मंडल के प्रभारी रामानुज वर्मा ने राहुल यादव के मामले में विशेष अदालत में गवाही देते हुए कहा कि उसके सामने एसआईटी ने दस्तावेज जब्त किए थे। एक अन्य कर्मचारी एलपी सिंह ने भी इसकी पुष्टी की।

ग्वालियर. व्यावसायिक परीक्षा मंडल के प्रभारी रामानुज वर्मा ने राहुल यादव के मामले में विशेष अदालत में गवाही देते हुए कहा कि उसके सामने एसआईटी ने दस्तावेज जब्त किए थे। एक अन्य कर्मचारी एलपी सिंह ने भी इसकी पुष्टी की। आरोपी दीपक यादव के मामले में विशेष न्यायालय के सामने रामानुज वर्मा का कहना था कि उसके सामने ओएमआर शीट की जब्ती हुई थी। उसने बताया कि स्ट्रांग रुम की एक चाबी कंट्रोलर के पास तथा एक मेरे पास रहती थी। इसे चपरासी खोलते थे। उसने बताया कि ओएमआर शीट एसआईटी के जांच अधिकारी समीर पाटीदार को दी थी। वहीं दूसरे गवाह का कहना था कि एसआईटी ने उसके सामने ही दस्तावेज जब्त किए थे।

आरोपी की अदालत में की पहचान

विशेष सत्र न्यायालय में पुलिस भर्ती घोटाले में सुनवाई के दौरान सिटी संेटर स्थित बैंक के ग्राहक सेवा केन्द्र के कर्मचारी दिलीप सिंह ने आरोपी ब्रजेश और लक्ष्मण को पहचानते हुए गवाही दी। दिलीप सिंह ने कहा कि आरोपीगण ने उसके सामने पुलिस भर्ती परीक्षा का आवेदन फॉर्म ऑनलाइन जमा करते समय अपने अंगूठे के निशान लगाए थे। पुलिस भर्ती में हुए घोटाले में परीक्षा के दौरान जनकगंज पुलिस ने आरोपीगण को पकड़ा था। 15 सितंबर 2013 को इसके लिए कार्यवाही की गई। एसआईटी ने आरोपी ब्रजेश, जितेन्द्र व लक्ष्मण के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किया था। सीबीआई के विशेष लोक अभियोजक बीके कुलश्रेष्ठ के अनुसार जांच के दौरान एसआईटी ने एक सीडी तैयार की थी। जिसे चालान के साथ पेश किया गया है। इसके बाद सीबीआई ने अतिरिक्त जांच कर पूरक चालान पेश किया। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned