शोभा-डे ने सुषमा स्वराज को ट्वीट पर दी सलाह, तो लोगों को आया गुस्सा

Gwalior, Madhya Pradesh, India
शोभा-डे ने सुषमा स्वराज को ट्वीट पर दी सलाह, तो लोगों को आया गुस्सा

अब यह विवाद केवल ट्विटर तक ही सीमित नहीं रह गया है,बल्कि जगह-जगह शोभा-डे की इस टिप्पणी को लेकर बातचीत का दौर भी शुरू हो गया हैं। 

ग्वालियर।लेखिका शोभा डे ने एक बार विवादों में घिर आई हैं। इसबार जिस बयान को लेकर वह विवाद में आई है उसमें उन्होंने विदेशमंत्री सुषमा स्वराज को सलाह दी है कि वह ट्वीट जऱा कम करें।

हालांकि डे ने इस ट्वीट में स्वराज को टैग नहीं किया,लेकिन इसके बावजूद ट्विटर की दुनिया को उनकी यह टिप्पणी पची नहीं हुई और इसे लेकर कई जगह बहस शुरू हो गई। दरअसल डे ने शुक्रवार को ट्वीट में लिखा था -'सुषमा स्वराज :2017 का वादा शांत रहें और ट्वीट न करें।'


यह भी पढें- मासूमों को चुराने के बाद कहां ले जाती थी लक्ष्मी?, जानिये यहां

शोभा-डे को ट्विटर पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को सलाह देना उल्टा पड़ गया है। उन्होंने विदेश मंत्री को शांत रहने की सलाह दीतो जगह-जगह उनका विरोध शुरू हो गया। यह जंग अब केवल ट्विटर तक ही सीमित नहीं रह गई हैजगह-जगह डे की इस टिप्पणी को लेकर बातचीत का दौर शुरू हो गया हैं। ग्वालियर में भी कई लोग जहां डे के इस ट्वीट को गलत बता रहे हैंवहीं कुछ लोग इसे वैचारिक स्वतंत्रता बताते हुए अनुचित नहीं मानते हैं।

कोई भी स्वचालित वैकल्पिक पाठ उपलब्ध नहीं है.

चर्चाका विषय बने इस ट्वीट को लेकरहमने भी शहर के कई लोगों सेचर्चा की,तोउन्होंने अपने अपने मत हमारेसाथ साझा किए।

'शोभा-डे होती कौन हैं इस तरह की बातकरने वाली। वह हमेशा ही विवादास्पद रहती है। और कैसे न कैसे अपने को चर्चा में बनाए रखने का प्रयास करती हैं। मेरी नजर में यह भी उन्होंने स्वयं को चर्चाओं में बनाए रखने के लिए किया है।'

-महेशमांझी,एडवोकेट

CLICK HERE-

'सुषमाजी लगातार विदेशों में फंसे भारतीयों की मदद कर रही हैं,और वह इसमें ट्वीटर की मदद ले रही हैं तो बुरा क्या है। शोभा-डे जानबुझकर विवादों से जुड़ती है,वो जानबुझकर ऐसे काम करती हैजिससे विवाद बनता है। शर्म आनी चाहिए शोभा डे को।'

-संजय शर्मा,संचालक निजी कंपनी

'भगवानकरे किसी दिन शोभा भी किसीएयरपोर्ट पर फंस जाए और मददके लिए ट्वीटर पर सुषमा जी सेगुहार लगाए,तबशोभा डे के समझ में आएगी पूरी बात। वह चाहती तो यहां सुषमा स्वराज को टैग कर सकती थी,लेकिन उनमें ऐसा करने की हिम्मत नहीं है।'

-अजय सिंह,संचालक निजी फर्म


यह भी पढें- स्वामी विवेकानंद के ये वचन जिंदगी की किसी भी चुनौती पर दिला सकते हैं जीत


'हमारेतो समझ में नहीं आता कि शोभाडे को क्या परेशानी है,क्यासुषमा जी उन्हें ट्वीट करतीहैं। फिर लोग कहते है ये वैचारिकस्वतंत्रता है,तोक्या मैं भी किसी के बारे मेंकुछ भी कह दूं,शर्मकरो शोभा।'

-मनोजगोयल,मैनेजरनिजी कंपनी

'यह तो शोभा-डे का अपना विचार है किसी को आप अपना विचार रखने से कैसे रोक सकते है। उन्होंने इसमें सुषमा स्वराज को टैग भी नहीं किया है। यह तो केवल विचार हैं,और विचार रखने का सबको अधिकार है।'

-आर.बंसल,मैनेजरनिजी कंपनी


यह भी पढें- सावधान! संधिकाल में रखें इन बातों का ध्यान, वर्ना...  


ज्ञातहो कि इससे पहले भी शोभा डे ने रियो ओलिंपिक-2016 के दौरान भी भारतीय खिलाडिय़ों के बारे में एक ट्वीट किया था,जिसे लेकर खासा विवाद खड़ा हो गया था। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि 'ओलिंपिक्स जाने वाली टीम इंडिया का गोल-रियो जाओ,सेल्फी लो,खाली हाथ वापिस आओ। पैसे और मौके की सिर्फ बर्बादी।डे के इस ट्वीट की कड़ी आलोचना हुई थी और उनसे यह भी कहा गया था कि आप आराम से सो जाइए,हमें आपकी दया नहीं चाहिए। 


यह भी पढें- तानसेन समारोह में विधायक की मनमानी!


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned