ऑपरेशन के लिए नहीं काटने होंगे मरीजों को चक्कर, निजी व मेडिकल कालेज के डाक्टर होंगे हायर

rishi jaiswal

Publish: Feb, 17 2017 01:44:00 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
ऑपरेशन के लिए नहीं काटने होंगे मरीजों को चक्कर, निजी व मेडिकल कालेज के डाक्टर होंगे हायर

जिला अस्पताल मुरार में हर माह पहुंचने वाले करीब 300 मरीजों को सुपर स्पेशलिटी ऑपरेशन के लिए मेडिकल कॉलेज और निजी अस्पताल के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे, यह सुविधा जल्द ही जिला अस्पताल में ही मिल सकेगी।

ग्वालियर. जिला अस्पताल मुरार में हर माह पहुंचने वाले करीब 300 मरीजों को सुपर स्पेशलिटी ऑपरेशन के लिए मेडिकल कॉलेज और निजी अस्पताल के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे, यह सुविधा जल्द ही जिला अस्पताल में ही मिल सकेगी। सुपर स्पेशिलिटी ऑपरेशन जिला अस्पताल में शुरू करने के लिए लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग विशेष योजना शुरू करने जा रहा है, जिसके तहत विभाग निजी व मेडिकल कॉलेज से डॉक्टर्स को हायर करेगा और उन्हें तय पैकेज के तहत प्रति ऑपरेशन प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी।
यह योजना प्राथमिक चरण में प्रदेश के 12 जिला अस्पतालों में शुरू होगी। सुपर स्पेशलिटी ऑपरेशन करने आने वाले मेडिकल कॉलेज या निजी क्षेत्र के चिकित्सकों का एक पैनल मापदंड के साथ तैयार किया जाएगा। इस योजना को शुरू करने से पहले मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों की एक कार्यशाला 17 व 18 फरवरी को भोपाल में आयोजित की गई है, जिसमें सभी से अपने-अपने जिला अस्पताल की कार्ययोजना बनाकर लाने को कहा गया है।

इन विभागों में...
ईएनटी, आर्थोपेडिक, गायनिक और सर्जरी में सुपर स्पेशलिटी ऑपरेशन होंगे, जिनमें कान का पर्दा बदलना, कॉकलियर इंप्लांट, घुटने, कूल्हे का जोड़ प्रत्यारोपण, आर्थोस्कोपी, लेप्रोस्कोपी से बच्चेदानी का ऑपरेशन, लेप्रोस्कोपी से गॉल ब्लेडर, हार्निया व प्रोस्टेड का ऑपरेशन शामिल है।

छह माह तक होगी डॉक्टर्स की ट्रेनिंग
निजी क्षेत्र व मेडिकल कॉलेज से हायर किए जाने वाले डॉक्टर्स विभाग के डॉक्टर्स को छह माह तक ट्रेनिंग देंगे। ऑपरेशन सीखने के बाद जिला अस्पताल के डॉक्टर ही ऑपरेशन करेंगे।

पहले चरण में यहां शुरू होगी सुविधा
पहले चरण में प्रदेश के 12 जिला चिकित्सालयों जिनमें ग्वालियर, उज्जैन, जबलपुर, खंडवा, सतना,  रतलाम, छिंदवाड़ा, देवास, बैतूल, भोपाल, मुरैना व सागर शामिल हैं।

- जिला अस्पताल में सुपर स्पेशलिटी ऑपरेशन की सुविधा शुरू करने के लिए योजना तैयार की गई है। इस योजना में निजी क्षेत्र व मेडिकल कॉलेजके डॉक्टर्स को हायर किया जाएगा।
डॉ. डीडी शर्मा, सिविल सर्जन

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned