17 वर्षीय बालिका ने अज्ञात कारणों के चलते फांसी लगाकर दी जान

Akanksha Singh

Publish: Nov, 30 2016 03:27:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
17 वर्षीय बालिका ने अज्ञात कारणों के चलते फांसी लगाकर दी जान

 सरसई से सटे ग्राम बड़ा निवासी जयराम की 17 वर्षीय पुत्री ज्योति अज्ञात कारणों के चलते आत्महत्या कर ली।

हमीरपुर। हमीरपुर जनपद के राठ कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सरसई निवासी प्रहलाद लोधी की पुत्री संध्या ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। ग्रामीणों के अनुसार मंगलवार सुबह जब संध्या के सभी परिजन पशु बाड़े में पशुओं की देखभाल कर रहे थे उसी समय संध्या ने खुद को कमरे में बंद कर फांसी लगा ली।

जब परिजन वापस लौटे तो उन्होंने कमरे में संध्या का झूलता हुआ शव देखा। बताया जाता है कि परिजनों ने बगैर पुलिस को सूचना दिये शव का अंतिम संस्कार कर दिया। आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका था। वहीं सरसई से सटे ग्राम बड़ा निवासी जयराम की 17 वर्षीय पुत्री ज्योति अज्ञात कारणों के चलते आत्महत्या कर ली। जब परिजनों की नजर फंदे पर झूलती ज्योति पर पड़ी तो उसे उतार कर आनन फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि उन्होंने सूचना देने के लिये कोतवाली मैमो भेजा किन्तु किशोरी के परिजन चुपचाप उसका शव लेकर अस्पताल से चले गये।

पारिवारिक कलह के चलते महिला ने लगाई आग
सरीला, कस्बा व थाना जरिया में एक महिला ने अपने पति से झगड़ कर खुद को आग लगाकर जान देने का प्रयास किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार जरिया निवासी मंगल अनुरागी का उसकी पत्नी श्यामा से किसी बात को लेकर विवाद हो गया। बताया जाता है कि विवाद बढ़ने पर मंगल ने श्यामा को डांट दिया। पति की डांट से श्यामा इतनी आक्रोशित हुई कि उसने अपनी जीवन लीला समाप्त करने की ही ठान ली। मंगलवार सुबह करीब नौ बजे श्यामा ने अपने शरीर पर मिट्टी का तेल डाल कर आग लगा ली। चीख पुकार सुन परिजन आग बुझाकर गंभीर रूप से झुलसी श्यामा को उपचार के लिये सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर पहुंचे। जहां पर चिकित्सकों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए मेडिकल कालेज झांसी के लिये रेफर कर दिया। सीएचसी के चिकित्सकों ने बताया कि महिला करीब 85 प्रतिशत तक झुलस चुकी थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned