मरीजों का हाल देख डीएम का चढ़ा पारा

Abhishek Gupta

Publish: Apr, 21 2017 04:45:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
मरीजों का हाल देख डीएम का चढ़ा पारा

जिलाधिकारी विशाखा ने शुक्रवार को कुरारा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया। जहाँ मरीजों व तीमारदारों को फर्श पर बैठे देख कड़ी नाराजगी ज़ाहिर की।

हमीरपुर. जिलाधिकारी विशाखा ने शुक्रवार को कुरारा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया। जहाँ मरीजों व तीमारदारों को फर्श पर बैठे देख कड़ी नाराजगी ज़ाहिर की। इस दौरान सीएचसी प्रभारी को शीघ्र तीमारदारों और मरोजों के लिए कुर्सियों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। गर्भवती महिलाओं का प्रसव से पूर्व बैंक में आशा के ज़रिए खाता खुलवाने के निर्देश दिए।

सीएचसी में जिलाधिकारी ने सबसे पहले ओपीडी का निरीक्षण किया। मरीजों को देख रहे चिकित्सक से बात करने पर चिकित्सक ने बताया कि आज 67 मरीजों को देखा गया है। आयुष चिकित्सक की जानकारी करने पर प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉक्टर पीके सिंह ने बताया कि उनकी तीन दिन सीएचसी और तीन दिन पारा पीएचसी में ड्यूटी है। इस दौरान इन्होंने मरीजों से बात की और चिकित्सकों को निर्देशित किया कि किसी भी मरीज को बाहर की दवा न लिखी जाए।प्रभारी चिकित्साधिकारी ने डीएम को बताया कि इस समय डायरिया व बुखार के मरीज सबसे ज्यादा आ रहे हैं।

ओपीडी के बाहर मरीजों व तीमारदारों को फर्श पर बैठे देख जिलाधिकारी का पारा चढ़ गया। उन्होंने प्रभारी चिकित्साधिकारी से कहा कि बरामदे व कमरों के किनारे कुर्सियों की व्यवस्था कराई जाए। जिससे मरीजों व तीमारदारों को फर्श में न बैठना पड़े। डीएम ने कहा कि लोहे की कुर्सियां क्रय करके उन्हें नटबोल्ट से कसवाया जाए ताकि उनकी चोरी होने की सम्भावना भी न रह सके। विद्यालय द्वारा आयरन की गोली लेने से मना करने पर डीएम ने कहा कि खण्ड शिक्षाधिकारी को आयरन की गोलियां उपलब्ध कराई जाए। स्टोर कक्ष में ताला पड़ा देख डीएम ने स्टोर खुलवाकर वहां पर रखी दवाएं चैक की। दरी में बैठी एएनएम और आशा को देख कर जिलाधिकारी ने कहा कि ये तरीका सही नहीं है। बैठने के लिए आई एएनएम और आशा के बैठने के लिए कुर्सियां क्रय की जाए।

अगली बैठक में कोई भी एएनएम और आशा दरी में बैठी नज़र नहीं आनी चाहिए। प्रसव होने के बाद भी प्रसूताओं का बैंक खाता न होने की जानकारी पर डीएम ने सामुदायक स्वास्थ केंद्र को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि प्रसव से पूर्व आशा के जरिए गर्भवती महिलाओं का खाता खुलवाया जाए। सीएचसी के निरीक्षण के समय मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सीपी कश्यप, सीएचसी प्रभारी डॉक्टर पीके सिंह मौजूद रहे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned