ये नहीं होने देंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना साकार-पढ़े पूरी खबर

krishna rajput

Publish: Apr, 21 2017 08:36:00 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
ये नहीं होने देंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना साकार-पढ़े पूरी खबर

स्वच्छ भारत अभियान में मिलीभगत का गंदा खेल केसला ब्लाक के ताकू में 2 महीने में जर्जर हो गए शौचालय शौचालय निर्माण में हो अनियमितता

इटारसी. प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई बाहर शौच से आजादी की लड़ाई जीत पाना फिलहाल संभव नहीं है। इस मिशन में मिलीभगत चल रही है। इसका जीता जागता उदाहरण केसला ब्लाक के गांव हैं। ब्लाक के गांवों में शौचालयों का निर्माण ठेकेदारों के माध्यम से करा दिया गया है जो इतना घटिया किया गया कि दो महीने में ही शौचालय जर्जर हो गए हैं।
ताकू के चीचापुरा में घटिया निर्माण का मामला सामने आया है। यहां हितग्राहियों का कहना है कि खाते में राशि भी आई और निकाल भी ली गई लेकिन राशि कब निकल गई इसकी जानकारी हितग्राहियों को भी नहीं हैं।

दो महीने पहले बने थे शौचालय
ताकू के चीचापुरा में शौचालयों का निर्माण कराया गया था। ठेकेदार के माध्यम से बनवाए गए इन शौचालयों की दीवारें दरक गई है, सीट धंस गई है, दरवाजे लग नहीं रहे हैं। इन शौचालयों को देखकर स्पष्ट है कि शौचालय का निर्माण बेहद घटिया हुआ है। हिताग्रहियों की माने तो शौचालय निर्माण के लिए राशि तो उनके खाते में आई थी लेकिन बाद में उनके खाते से निकालकर सीधे ठेकेदार को दे दी गई है।

पहले बेझिझक बोले बाद बदला बयान
ताकू सरपंच विनोद धुर्वे से जब इस संबंध में बात की गई तो उन्होंने पहले कहा कि मैने पहले ही कहा था कि शौचालय अच्छे बनाना। शौचालय नितिन मालवीय के ठेकेदार बना रहे थे। जब इस संबंध में नितिन मालवीय से बात की गई तो उन्होंने कहा कि सरपंच से बात करता हूं। इसके बाद फिर सरपंच ने स्वयं कॉल करके बात की और कहा कि इसमें मालवीय जी का कोई लेना देना नहीं है।


शौचालय बनाकर चले गए। हमसे खूब सारे कागज पर अंगूठा लगावाया था। हमारे खाते से राशि भी निकाल ले गए।
सुंदरलाल, हितग्राही

शौचालय में जाने से भी डर लगता है। उसकी दीवारें टूट रही है। सीट भी धंस गई है। ऐसे में शौचालय में कौन जाएगा।
रखिया  बाई, हितग्राही

ठेकेदार और सरकारी अमला मिलकर स्वच्छ भारत अभियान को पलीता लगा रहे हैं। इसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए और दोषियों को सजा मिलना चाहिए।
राजीव बामने, सामाजिक कार्यकर्ता

हितग्राहियों के खाते में राशि आई थी। हितग्राही का स्वयं का निर्णय है काम किससे कराना है। गांव के इस क्षेत्र में किसी भी हितग्राही का सहयोग का नहीं मिल रहा था। हितग्राहियों ने तराई भी नहीं की है।
नितिन मालवीय, प्रभारी स्वच्छ भारत मिशन केसला

पीपलढ़ाना में भी ऐसे ही हालात
पीपलढ़ाना के सौंठिया में भी शौचालय निर्माण में भारी गड़बड़ी हुई है। यहां शौचालय ठेकेदार द्वारा बनवाए गए थे। यहां भी शौचालय बनते-बनते ही जर्जर हो गए थे। यहां लोगों ने शिकायत की थी कि सचिव सोनू साहू ने ठेकेदार के साथ मिलकर निर्माण कराए। घटिया निर्माण कराने के बाद खाते से पूरी राशि निकालवाई गई। इसके लिए धमकी भी मिली थी कि जो राशि निकालकर नहीं देगा उसका बीपीएल का कार्ड निरस्त कर दिया जाएगा।  प्रोजेक्ट प्रभारी नितिन मालवीय ने बताया कि इस मामले में सोनू साहू को नोटिस जारी किया गया है और जांच भी कराई जा रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned