ग्रापं बिछुआ में रिश्वत मांगने के मामले में जांच जारी

Amit Billore

Publish: Jun, 19 2017 05:35:00 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India


ग्रापं बिछुआ में रिश्वत मांगने के मामले में जांच जारी

जीआरएस के सामने ही लिए जांच अधिकारी ने ग्रामीणों के बयान

सोहागपुर।

ग्राम पंचायत बिछुआ के निवासियों ने गत दिनों जपं में शिकायत की थी कि ग्राम रोजगार सहायक मुकेश के द्वारा उनसे विभिन्न शासकीय योजनाओं की स्वीकृति लाभ दिलाने के बदले रिश्वत की मांग की जाती है। शिकायती आवेदन में उल्लेख था कि ग्रामीणों से प्रधानमंत्री आवास, इंदिरा आवास, स्वरोजगार योजना आदि का लाभ दिलाने के लिए ढाई हजार रुपए से लेकर 20 हजार रुपए तक मागे जााते हैं। जिसकी जांच जपं सीईओ द्वारा विकास विस्तार अधिकारी आरएस गौर को सौंपी गई थी।

गत सोमवार से गौर ने ग्राम पंचायत भवन पहुंचकर जांच भी शुरु कर दी गई है। जिसमें ग्रामीणों ने मुखर होकर बयान दिए हैं कि उनसे ग्राम रोजगार सहायक द्वारा रिश्वत की मांग की जाती है। यहां खास बात यह है कि ग्राम रोजगार सहायक मुकेश उसके परिजनों की उपस्थिति में ग्रामीणों के बयान लिए गए। जो कि ग्रामीणों के अनुसार अनुचित है। ग्रामीणों ने बताया कि इस बात की शिकायत एसडीएम कलेक्टर से की जाएगी कि जब ग्रामीणों के बयान लिए जाते हैं, तो उस दौरान जीआरएस उसके परिजन उपस्थित रहें। इससे जांच प्रभावित हो सकती है। उल्लेखनीय है कि पांच जून को ग्रामीणों ने उक्त शिकायती आवेदन दिया था। जिसमें दर्जनभर ग्रामीणों ने जपं सोहागपुर कार्यालय पहुंचकर आवक-जावक में अपना शिकायती आवेदन जमा किया था।

आवेदन पर ही जपं सीईओ द्वारा जांच शुरु कराई गई है। मामले में जपं सीईओ बंदू सूर्यवंशी का कहना है कि वे जांच अधिकारियों को निर्देशित करेंगीं कि जांच पूर्ण पारदर्शिता गवाहों को पूर्ण स्वतंत्र माहौल देते हुए की जाए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned