सिंहस्थ मेले में वल्र्ड क्लास सीवेज सिस्टम देने वाले अधिकारी ने किया नर्मदा जल परिवहन कार्य का निरीक्षण

Amit Billore

Publish: Jun, 20 2017 09:48:00 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India


सिंहस्थ मेले में वल्र्ड क्लास सीवेज सिस्टम देने वाले अधिकारी ने किया नर्मदा जल परिवहन कार्य का निरीक्षण

शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने किया नर्मदा जल परिवहन योजना की तैयारियों का निरीक्षण, सोहागपुर उपमंडी व थाने के बीच बनेगा वाटर फिल्टर एंड फिल्टरिंग प्लांट

सोहागपुर।

सोहागपुर में नगर परिषद द्वारा नर्मदा जल को सोहागपुर लाए जाने की योजना का मैदानी कार्य सर्वे के साथ शुरु हो चुका है। मंगलवार को शहरी विकास प्राधिकरण की टीम ने सोहागपुर पहुंचकर तैयारियों का निरीक्षण किया है। टीम में प्राधिकरण के प्रोजेक्ट मैनेजर के रूप में शामिल वीके तिवारी वे अधिकारी हैं, जिन्होंने सिंहस्थ मेले में गत वर्ष वल्र्ड क्लास सीवेज सिस्टम की नजारा पूरी दुनिया के सामने प्रस्तुत किया था।

इस दौरान तिवारी सहित सोहागपुर नगर परिषद अध्यक्ष संतोष मालवीय, प्रोजेक्टर डिप्टी मैनेजर राघवेंद्र सिंह, सामाजिक सुरक्षा विशेषज्ञ राजीव शर्मा, कांटे्रक्ट कंपनी सेंट्रल इंडिया इंजीनियरिंग प्रमुख रोहित माहेश्वरी, सोहागपुर सीएमओ जीएस राजपूत, उपयंत्री आरजी चौबे ने नए थाने उपमंडी के बीच का वह क्षेत्र देखा, जहां नर्मदा जल के लिए रसायनों युक्त चैंबर वाला फिल्टर प्लांट बनाया जाएगा। फिल्टर प्लांट के बाद तीन जोनों में विभाजित व्यवस्था के तहत सोहागपुर में इतनी ही ओवर हेड टंकियों के जरिए पेयजल पहुंचाया जाएगा। टीम ने सोहागपुर से करीब 15 किलोमीटर दूर स्थित ईशरपुर ग्राम के नर्मदा घाट का भी अवलोकन किया, जहां से पेयजल सोहागपुर के लिए लाया जाएगा। इशरपुर में नर्मदा नदी से वेल को जोडऩे के लिए एप्रोज ब्रिज बनाया जाएगा, पानी का सोहागपुर में ट्रीटमेंट प्लांट लगेगा। जबकि इसके अलावा वाटर पंपिंग मशीन, वाटर राईजिंग मेस, वाटर फीडर आदि भी बनेंगे।

Hoshangabad

सामाजिक परिवेश भी देखेंगे

टीम में शामिल सामाजिक सुरक्षा विशेषज्ञ राजीव शर्मा के अनुसार वे इस बात का अध्ययन कर रहे हैं कि नर्मदा जल लाए जाने से सोहागपुर ईशरपुर के बीच के क्षेत्र के सामाजिक ताने-बाने पर कोई दुष्प्रभाव तो नहीं पड़ेगा। उन्होंने बताया कि एशियन डेवलपमेंट बैंक इस बात पर ध्यान देती है कि जब कभी इस प्रकार के कार्य होते हैं, तथा जिनके लिए बड़ा ऋण दिया जाता है तो उसका आम जनजीवन, आमजनों की जीवनशैली आदि पर क्या प्रभाव पड़ता है।

इसलिए जरूरी नर्मदा जल

विवरण                                      वर्ष 2011                               वर्ष 2018                        वर्ष 2033                        वर्ष 2048

जनसंख्या                                  25040               27400               32500               44000

जल जरूरत                                2.6                    4.70                  5.6                    6.5  (मीट्रिक लीटर प्रतिदिन        )

किया है निरीक्षण

भोपाल से आई टीम के साथ सर्वे किया गया है, जरूरी निर्देश संबंधित कर्मचारियों अधिकारियों को दिए गए हैं। करीब 37 करोड़ रुपए के पूर्ण व्यय के साथ नर्मदा जल सोहागपुर लाया जाएगा। ताकि आगामी 30 सालों के बाद संभावित पेयजल समस्या का मुकाबला किया जा सके।

संतोष मालवीय, अध्यक्ष, नगर परिषद, सोहागपुर।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned