लाल बत्ती का मोह नहीं छोड़ पा रहे कई अधिकारी

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
लाल बत्ती का मोह नहीं छोड़ पा रहे कई अधिकारी

गुरुवार को मप्र विधानसभा के अध्यक्ष एवं होशंगाबाद विधायक डॉ. सीताशरण शर्मा, मप्र खनिज निगम अध्यक्ष शिव चौबे, मप्र वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राजपूत समेत जिमोदी केबिनेटफैसले जिले में भी असर हुआ है।

होशंगाबाद. वीपीआई संस्कृति के खिलाफ मोदी केबिनेट के बड़े फैसले का जिले में भी असर हुआ है। सरकार के फैसले के दूसरे दिन ही इस पर अमल शुरू हो गया। गुरुवार को मप्र विधानसभा के अध्यक्ष एवं होशंगाबाद विधायक डॉ. सीताशरण शर्मा, मप्र खनिज निगम अध्यक्ष शिव चौबे, मप्र वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन अध्यक्ष राजेंद्र सिंह राजपूत समेत जिमोदी केबिनेटफैसले जिले में भी असर हुआ है।विधानसभा के अध्यक्षजपूत ला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल ने वाहनों पर से लालबत्ती हटा ली। हलांकि कमिश्नर, डिप्टी कमिश्नर, एडीएम एवं डिप्टी कलेक्टर अभी भी पीलीबत्ती के मोह से बाहर नहीं आए हैं। गुरुवार को भी ये आला अफसर पीलीबत्ती की कारों से घूमते रहे।
जनता से दूरी कम हुई

VIP culture

 
मप्र विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सीताशरण शर्मा ने गुरुवार दोपहर में अपने सिविल लाइन स्थित कार्यालय परिसर में कार में से लालबत्ती निकलवा दी। उन्होंने कहा कि वर्षों से आम आदमी और प्रशासन-प्रशासन के बीच यह वीआईपी कल्चर दूरी का प्रतीक हो गया था।
मीडिया ने टोका तो जिपं अध्यक्ष ने हटाई लालबत्ती

VIP
 
जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल लालबत्ती कार में ही घूम रहे थे। शाम को जिला पंचायत में एक कार्यक्रम में जब मीडिया ने उन्हें लालबत्ती को लेकर टोका तो सभागार से उठे बोले चलो मीडिया के सामने ही कार से बत्ती निकाल लेता हूं। बाहर आकर कार से उन्होंने खुद ही लालबत्ती निकाली।

निगम एवं कार्पोरेशन अध्यक्ष ने भी त्यागी बत्ती

decision

जिले के भाजपा नेता एवं खनिज निगम अध्यक्ष शिव चौबे ने मुख्यमंत्री व्दारा लालबत्ती त्यागते ही अपनी कार से भी लालबत्ती हटा ली। चौबे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सलाहकार भी हैं और वर्तमान में नर्मदा सेवा यात्रा के प्रभारी का दायित्व भी संभाल रहे हैं।

सीईओ ने सबसे पहले छोड़ी बत्ती

decision

जिले में सबसे पहले पीलीबत्ती त्यागने वाले जिला पंचायत सीईओ पीसी शर्मा (आईएएस) रहे। उन्होंने सुबह ही अपनी कार से  बत्ती हटवा दी।


अधिकारियों की गाडिय़ों पर अभी चिपकी बत्ती

जनप्रतिनिधियों के लालबत्ती त्यागने के बाद भी जिले एवं संभाग के आला अधिकारी अभी भी पीलीबत्ती का मोह नहीं छोड़ पाए हैं। कमिश्नर उमाकांत उमराव, कलेक्टर अविनाश लवानिया, एडीएम मनोज सरेयाम एवं डिप्टी कलेक्टर मनोज उपाध्याय के कार वाहनों पर से शाम तक पीली एवं नीलीबत्ती नहीं हटी थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned