देश की समृद्धि लेकर आई मकर संक्रांति

Sanket Shrivastava

Publish: Jan, 14 2017 10:56:00 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
देश की समृद्धि लेकर आई मकर संक्रांति

इस वर्ष मकर संक्रांति हाथी पर सवार होकर आई


होशंगाबाद।
इस बार मकर संक्रांति हाथी पर सवार होकर आई है। आचार्य सोमेश परसाई के मुताबिक माघ मास में यदि संक्रांति पड़ती है तो यह समाज एवं राष्ट्र के लिए मंगलकारी होती है। इस बार हस्तिवाहन अर्थात हाथी वाहन पर संक्रांति आई है। इससे पश्चिम के देशों में उलट-पलट होगी। भारत की समृद्धि लौटेगी और पश्चिम में आतंकी घटनाएं होने की संभावनाएं है। संक्रांति का पुण्यकाल दोपहर 1.37 बजे से लेकर शाम 5.21 बजे तक रहेगा।

तिल के उपयोग से पापों का नाश होता है : तिल के छह प्रकार के उपयोग से पापों का नाश होता है। तिल के तेल का दीपक जलाने, तिल का ओटन शरीर में लगाने, तिल को दान करने, तिल खाने से, तिल का तर्पण करने से सभी प्रकार के पापों का नाश एवं पुण्य का उदय होता है।

स्नानार्थियों का जमावड़ा
शुक्रवार शाम से ही मुख्य सेठानीघाट पर आसपास के जिलों से स्नानार्थियों का आगमन शुरू हो गया था। इन घाटों पर होंगे संक्रांति महास्नान नर्मदा के मुख्य सेठानीघाट सहित अन्य घाटों पर होगा। जिले सहित पिपरिया के सांडिया, होशंगाबाद के बांद्राभान संगम तट, आंवलीघाट आदि घाटों पर हजारों लोग स्नान कर मंदिरों में पूजन-अर्चन करेंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned