आत्मदाह करने वाले किसान ने तोड़ा दम

devendra awadhiya

Publish: Jun, 20 2017 11:42:00 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
आत्मदाह करने वाले किसान ने तोड़ा दम

छह सूदखोर दे रहे थे प्रताडऩा, कर्ज ने किसान को बना दिया मजदूर, लगा ली थी चार दिन पहले आग

होशंगाबाद. छह सूदखोरों की प्रताडऩा से तंग होकर आत्मदाह करने वाले ग्राम रंढाल के किसान बाबूलाल पिता बालकिशन वर्मा (40) की बीती रात भोपाल के कमला नेहरू अस्पताल में मौत हो गई। किसान चार दिनों तक अस्पताल में जिंदगी और मौत से संघर्ष करता रहा। अभी तक देहात थाना पुलिस आरोपी सूदखोरों को तलाश नहीं पाई है। पुलिस अब आरोपियों पर धारा 306 का अपराध कायम करने जा रही है।
  ज्ञात रहे कि सूदखोरों के कर्ज से परेशान होकर चार दिन पहले रात में अपने घर में चिमनी के तेल को शरीर पर उड़ेलकर माचिस की तीली से आग लगी ली थी। जिससे वह 50 फीसदी जल गया था। सुबह 5 बजे भाईयों ने गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से हालत बिगडऩे पर शुक्रवार दोपहर में बाबूलाल वर्मा को भोपाल हमीदिया के कमला नेहरू अस्पताल में रैफर किया गया था।
उपचार के दौरान बीती देर रात में किसान बाबूलाल वर्मा ने दम तोड़ दिया। उस पर सूदखोरों का 7 लाख 60 हजार रुपए का भारी कर्ज था। उसने परिवार में अपने हिस्से की दो एकड़ जमीन भी बेच दी थी। वह किसान से मजदूर हो गया था। सूदखोर 4-5 दिनों से उसके घर जाकर इंदिरा आवास में ताला डाल देेने की धमकी भी दे रहे थे।
 टीआई रामस्नेही चौहान ने बताया कि भोपाल के अस्पताल में मृतक के शव का पोस्टमार्टम हो रहा है। मर्ग डायरी प्राप्त होते ही मेमोरेंडम के आधार पर आरोपी सूदखोरों के खिलाफ धारा 306 आईपीसी का केस दर्ज किया जाएगा।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned