हालात : पानी के लिए झिरी का सहारा

harinath dwivedi

Publish: Apr, 21 2017 11:44:00 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
हालात : पानी के लिए झिरी का सहारा

भीमपुर ब्लॉक के ग्राम साबुढाना में जलसंकट

भीमपुर। भीमपुर ब्लॉक के ग्रामीण क्षेत्रों के ग्रामीणों को अप्रैल माह में ही भीषण जलसंकट का सामना करना पड़ रहा है। ज्यादातर गांव के हैंडपंपों ने दम तोड़ दिया है तो नलजल योजना से पानी की सप्लाई पूरी तरह से ठप हो गई। ग्राम पंचायत बाटला खुर्द के ग्राम साबूढाना की भी यही कहानी है। ढाने का हैंडपंप लंबे समय से बंद है। गांव में हैंडपंप के अलावा अन्य पानी के स्रोत नहीं होने के कारण ग्रामीणों को  पहाड़ी नदी की झिरिया से पानी लाना पड़ रहा है।

गांव के सीताराम ठाकरे, पतिराम बारस्कर, काड़मा कालमे ने बताया कि गांव के हैंडपंप बंद होने से ग्रामीणों को  जलसंकट से जूझना पड़ रहा है। हैंडपंप सुधारने के लिए ग्रामीण  पीएचई विभाग के चक्कर काट रहे हैं पर  विभाग के अधिकारियों द्वारा आश्वासन दिया जा रहा है।  पानी   संकट होने से मजबूरी में ग्रामीणों को झिरिया से पानी लाना पड़ रहा है। गांव का हैंडपंप खराब होने के कारण गांव के लोगों को रोजाना दो किमी का सफर तय करना पड़ता है। ग्रामीणों का कहना है कि  झिरी का पानी मटमैला होने से बीमारी फैलने की आशंका भी गांव में बढ़ गई है। ग्रामीणों ने हैंडपंप सुधारे जाने की मांग विधायक से की है।

डहरगांव में पानी की सप्लाई ठप
ंजामठी. ग्राम डहरगांव में के ग्रामीणों को इन दिनों जलसंकट से जूझना पड़ रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण गांव में पानी की सप्लाई नहीं हो रही है। गांव में पानी की किल्लत बढ़ती जा रही है।

भैंसदेही में गहराने लगा जलसंकट
भैंसदेही. नगर में पानी की किल्लत बढऩे लगी है। एक दिन के अंतराल में पानी की सप्लाई की जा रही है।  पानी संकट को देखते नगर परिषद भैंसदेही  के उपाध्यक्ष धर्मपाल सिंह ठाकुर द्वारा अपने निजी ट्यूबेल पानी दिया जा रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned