चीन और कश्मीर मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक शुरू, कई अहम मुद्दों पर चर्चा

New Delhi, Delhi, India
चीन और कश्मीर मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक शुरू, कई अहम मुद्दों पर चर्चा

चीन के साथ सीमा विवाद और कश्मीर मुद्दे को लेकर दिल्ली में सर्वदलीय बैठक जारी है। यह बैठक गृहमंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर बुलाई गई है।

नई दिल्ली: चीन के साथ सीमा विवाद और कश्मीर मुद्दे को लेकर दिल्ली में सर्वदलीय बैठक जारी है। यह बैठक गृहमंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर बुलाई गई है। बैठक में विपक्षी दल के नेताओं को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सीमा के हालात और अन्य मुद्दों पर जानकारी दे रही हैं। विपक्षी दल के नेताओं के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और विदेशी सचिव भी बैठक में मौजूद हैं।



सेना को हथियार खरीदने की मंजूरी
वहीं बैठक में केंद्र सरकार ने सेना को सीधे तौर पर हथियार खरीदने की छूट दे दी है। सेना के वाइस चीफ के वित्तीय अधिकारों में बढ़ोतरी करते हुए उन्हें सीधे 40 हजार करोड़ के साजोसामान की खरीद के अधिकार दिए गए हैं। अब सेना मुख्यालय रक्षा मंत्री और कैबिनेट की मंजूरी के बिना 40 हजार करोड़ के हथियार व गोला बारूद खरीद सकेगी। अभी हथियारों की खरीद की प्रक्रिया कई गलियारों से होकर गुजरती है। सेना के पास करीब 46 तरह के महत्वपूर्ण हथियार हैं, जिसमें 10 तरह के हथियारों के कलपुर्जे हैं। जबकि 20 तरह के गोला बारूद और बारूदी सुरंगे हैं। इसमें आर्टलरी और टैंक से जुड़े गोला बारूद शामिल है।

डोकलाम पर कूटनीतिक चैनलों का उपयोग
चीन के साथ रिश्तों के बारे में पूछने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने गुरुवार को कहा कि हाल में  जी-20 बैठक के दौरान ब्रिक्स देशों के नेताओं की अलग से अनौपचारिक मुलाकात हुई। इस दौरान पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के बीच संवाद हुआ था, जो कई मुद्दों पर था। इसके बाद दोनों देश डोकलाम के मुद्दे पर डिप्लोमेटिक चैनल का इस्तेमाल कर रहे हैं और आगे भी जारी रहेगा। पत्रकारों ने जब यह पूछा कि मोदी और चीन के राष्ट्रपति के बीच बातचीत किन मुद्दों पर हुई थी तो प्रवक्ता ने कहा कि इसे मैं आपकी कल्पना पर छोड़ रहा हूं।

कश्मीर पर चीन का प्रस्ताव खारिज
भारत ने गुरुवार को चीन की उस पेशकश को सिरे से खारिज कर दिया जिसमें उसने कश्मीर मुद्दे पर सृजनात्मक भूमिका निभाने की चाहत जताई थी। भारत ने कहा कि पाकिस्तान के साथ सभी मुद्दों को द्विपक्षीय तरीके से हल करने के रुख में तब्दीली नहीं हुई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले साप्ताहिक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि असल मुद्दा सीमा-पार आतंकवाद का है। हम कश्मीर मुद्दे पर पाक के साथ द्विपक्षीय बातचीत को तैयार हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned