मोसुल में ISIS के खिलाफ इराकी सैन्य कार्रवाई ने 39 भारतीय परिवारों में खुशी की लहर

New Delhi, Delhi, India
मोसुल में ISIS के खिलाफ इराकी सैन्य कार्रवाई ने 39 भारतीय परिवारों में खुशी की लहर

मोसुल में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ इराकी व कुर्दिश फौजों की सैन्य कार्रवाई से भारतीय परिवारों में अपनों को पाने की आस जग गई है। 

नई दिल्ली/अमृतसर। मोसुल में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ इराकी व कुर्दिश फौजों की सैन्य कार्रवाई से भारतीय परिवारों में अपनों को पाने की आस जग गई है। अमृतसर के बाबोवाल गांव की हरभजन कौर को उम्मीद है कि अब उनके लापता बेटे की खबर मिल सकती है। 

2014 में इराक में लापता होने वाले 39 भारतीयों में उनका बेटा हरसिमरनजीत सिंह भी शामिल है।  इस्लामिक स्टेट पर इन लोगों के अपहरण का आरोप लगा था। 

सुषमा स्वराज ने दिलाई है आस

हरभजन कौर का कहना है कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस महीने के शुरुआत में उन्हें बताया था कि कुछ ही दिनों में मोसुल इस्लामिक स्टेट के कब्जे से मुक्त हो जाएगा और उनके बेटे के बारे में जरूर कोई अच्छी खबर मिलेगी। सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया था कि इरबिल में भारत सरकार का कार्यालय है, जहां से लापता लोगों के बारे में पता लगाया जा रहा है। यह शहर उत्तरी बगदाद से 350 किलोमीटर की दूरी पर है। 

हरजीत सिंह ने किया था सभी के मारे जाने का दावा

पिछले साल हरजीत सिंह ने दावा किया था कि इस्लामिक स्टेट ने 39 भारतीयों का अपहरण कर उन्हें मार दिया है। हालांकि, सरकार ने इस दावे को खारिज कर दिया था। हरभजन कौर का कहना है कि विदेश मंत्री ने उन्हें इस बात की दिलासा दी है कि हरजीत सिंह झूठ बोल रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned