लातूर निकाय चुनावः 70 साल बाद पहली बार हारी कांग्रेस, बीजेपी को मिले 70 में से 36 सीट 

NICS Team

Publish: Apr, 21 2017 10:00:00 (IST)

New Delhi, Delhi, India
लातूर निकाय चुनावः 70 साल बाद पहली बार हारी कांग्रेस, बीजेपी को मिले 70 में से 36 सीट 

आजादी के सात दशक बाद कांग्रेस को पहली बार लातूर में हार का सामना करना पड़ा है। 70 सदस्यीय लातूर महानगरपालिका चुनाव में 36 सीटों पर जीत हासिल की है।

मुबंई. आजादी के सात दशक बाद कांग्रेस को पहली बार लातूर में हार का सामना करना पड़ा है। 70 सदस्यीय लातूर महानगरपालिका चुनाव में 36 सीटों पर जीत हासिल की है। जबकि कांग्रेस को 33 सीटों से संतोष करना पड़ा है। बता दें कि महाराष्ट्र का यह क्षेत्र शुरुआत से ही कांग्रेस के कब्जे में रहा है। यह महाराष्ट्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे और पूर्व मुख्यमंत्री विसालराव देशमुख का गढ़ माना जाता है। 

मुख्यमंत्री फडणवीस को जीत का श्रेय 
कांग्रेस के इस गढ़ को दरकाने का श्रेय महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को जाता है। फडणवीस ने इस क्षेत्र के चुनाव प्रचार में जमकर मेहनत की थी। लातूर पिछले पांच सालों से सूखा प्रभावित भी रहा है। यहां बुधवार (19 अप्रैल) को वोटिंग हुई थी। सुखा प्रभावित इस क्षेत्र में केंद्र द्वारा जल एक्सप्रेस भेजने का फैसला भी इस जीत में निर्णायक भूमिका निभाई। 

पिछले चुनाव में खाली हाथ थी बीजेपी 
लातूर महानगरपालिका के लिए साल 2012 में हुए चुनाव में बीजेपी को एक भी सीट पर जीत नसीब नहीं हुई थी। पिछले चुनाव में कांग्रेस को 49, एनसीपी को 13 और शिवसेना को 6 सीटें मिली थीं।

अन्य निकाय क्षेत्रों में भी बीजेपी मजबूत 
लातूर के साथ-साथ परभणी और चंद्रपुर महापालिका के लिए भी 19 अप्रैल को वोट डाले गए थे। इन दोनों निकाय क्षेत्रों में भी बीजेपी की स्थिति पहले से काफी मजबूत हुई है। चंद्रपुर में भाजपा 27 सीटों पर आगे चल रही है जबकि कांग्रेस11, एनसीपी 2 और शिवसेना भी दो सीट पर आगे चल रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned