SC का ऑर्डर: फिल्म शुरू करने से पहले सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान बजाए 

New Delhi, Delhi, India
SC का ऑर्डर: फिल्म शुरू करने से पहले सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान बजाए 

सुप्रीम कोर्ट ने सिनेमा हॉलो में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रीय गान बजाना अनिवार्य कर दिया है। 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को राष्ट्रीय गान को लेकर बड़ा  फैसला सुनाया है। कोर्ट ने ऑर्डर दिया, "फिल्म के शुरू होने से पहले सभी सिनेमा हॉलो में राष्ट्रीय गान बजाना अनिवार्य है। राष्ट्रीय गान के बजने के दौरान फिल्म देखने के लिए मौजूद सभी दर्शकों को अपने स्थान पर उठना भी जरूरी है।"




कोर्ट ने कहा, लोगों को सीखना जरूरी 
- कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा,  "इनदिनों लोग राष्ट्रीय गान को कैसे गाया जाता है, यह भूल गए हैं। लोगों के लिए यह सीखना जरूरी है।"
- "हमें अपने राष्ट्रीय गान का सम्मान करना चाहिए। राष्ट्र गान बजने के दौरान सिनेमा स्क्रिन पर राष्ट्रीय ध्वज को दिखाना भी अनिवार्य है।" 




- कोर्ट ने अपने निर्देश में कहा है कि राष्ट्रगान का व्यसायिक फायदे के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। आपत्तिजनक चीजों पर राष्ट्र गान को मुद्रित नहीं किया जाना चाहिए। 
- कोर्ट ने कहा कि सिनेमा होलो में संक्षिप्त नहीं पूरा राष्ट्रगान बजाना जरूरी है।

किसने डाली थी जनहित याचिका
- राष्ट्रगान के लिए सुप्रीम कोर्ट में भोपाल के रहने वाले श्याम नारायण चौकसे ने पीआईएल डाली थी।
- इसमें सुप्रीम कोर्ट से देशभर के सिनेमा हॉलों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाए जाने का आदेश देने की मांग की गई थी।


पहले सिनेमा घरों में बजाया जाता था राष्ट्रगान
- बता दें कि 1960 के दशक में सिनेमा घरों में राष्ट्रगान बजाने की शुरुआत हुई।
- ऐसा सैनिकों के सम्मान और लोगों में राष्ट्रप्रेम की भावना जगाने के लिए होता था।
- हालांकि, बाद में शिकायतें और राष्ट्रगान के अपमान होने के बाद, करीब 40 साल पहले सरकार ने इसे बंद करवा दिया था।
- वैसे 2003 में महाराष्ट्र सरकार ने भी इसके लिए नियम बनाया। जिसके तहत सिनेमा हॉल में मूवी से पहले राष्ट्रगान बजाना और इस दौरान लोगों का खड़े रहना जरूरी किया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned