कैट में पहली बार जूते-मोजे और मेहंदी पर बैन, सैंडल्स या चप्पल पहनकर आने के निर्देश

Indore, Madhya Pradesh, India
कैट में पहली बार जूते-मोजे और मेहंदी पर बैन, सैंडल्स या चप्पल पहनकर आने के निर्देश

टेस्ट से पहले स्टूडेंट्स के लिए निर्देश जारी, आईआईएम्स के पीजीपी 2017-18 सेशन के लिए कैट 4 दिसंबर को होने जा रही है।


इंदौर.
मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तर्ज पर कैट (कॉमन एडमिशन टेस्ट) में भी बदलाव किए गए हैं। इस बार कैट में जूते-मोजे के साथ मेहंदी पर भी बैन रहेगा। आईआईएम्स के पीजीपी 2017-18 सेशन के लिए कैट 4 दिसंबर को होने जा रही है।
इसके एडमिट कार्ड जारी होने के बाद एग्जाम कमेटी ने अलग से ई-मेल भेजकर निर्देश दिए हैं। इनमें स्टूडेंट्स को जूते-मोजे के बजाय सैंडल्स या चप्पल पहनकर आने के निर्देश हैं। जूते सहित सेंटर में प्रवेश नहीं मिलेगा। एक और बड़े बदलाव में हाथ में मेहंदी या कोई केमिकल लगाकर आने की भी मनाही है।

यह भी पढ़ें- तलाक- तलाक-तलाक, शबाना ने खून से चीफ जस्टिस को लिखी दरख्वास्त!

मेहंदी के कारण फिंगर प्रिंट क्लियर नहीं आ पाते। कैट एक्सपर्ट आकाश सेठिया ने बताया, 'टेस्ट में गड़बड़ी की गुंजाइश खत्म करने के लिए कमेटी ने बदलाव किए हैं। सुबह के टेस्ट के लिए 7.30 बजे और दोपहर के लिए 2.15 बजे रिपोर्टिंग शुरू हो जाएगी। सुबह 8.45 और दोपहर में 2.15 के बाद किसी स्टूडेंट को प्रवेश नहीं मिलेगा। रोल नंबर के साथ ओरिजनल आईडी प्रूफ लाना भी अनिवार्य किया है।'

exam

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned