पत्रिका बिग इम्पैक्ट : सिरपुर तालाब के कैचमेंट एरिया में बसी ग्वाला कॉलोनी पर चले बुलडोजर

Indore, Madhya Pradesh, India
पत्रिका बिग इम्पैक्ट : सिरपुर तालाब के कैचमेंट एरिया में बसी ग्वाला कॉलोनी पर चले बुलडोजर

2 पोकलेन, 5 जेसीबी के साथ कार्रवाई शुरू, अतिक्रमण हटाने के लिए नगर निगम ने पुलिस से मांगी सुरक्षा व्यवस्था

इंदौर.  सिरपुर तालाब को सहेजने के लिए 'पत्रिका ने छेड़े अभियान को शुक्रवार को बड़ी सफलता हाथ लगी। नगर निगम के अमले ने पुलिस फोर्स के साथ ग्वाला कॉलोनी को हटाने की कार्रवाई शुरू की।  2 पोकलेन, 5 जेसीबी के साथ 250 रिमूवल अमले ने एक के बाद एक अवैध निर्माणों को जमींदोज किया। पांच थाना क्षेत्रों का पुलिस बल लगा। मौके पर पांच टीआई मौजूद रहे। उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि कई बार नोटिस देने के बाद अवैध निर्माण हटाने के लिए समय सीमा दी। उसके बाद घोषित तारीख पर कार्रवाई की। कार्रवाई को अंजाम देने के दौरान मलबा भी तुरंत ही हटाया जा रहा था। इसके लिए भी वाहनों का प्रबंध किया है।


sirpur



निगम कार्रवाई के दौरान महिलाओं ने कई बार विवाद किया। पशुपालकों के परिवारों से जुड़ी महिलाओं ने निगम टीम का जमकर विरोध किया। बातों-बातों से बढ़ा विवाद हाथापाई तक पहुंच गया। महिलाओं के साथ पशुपालकों से निगम कर्मचारियों से जमकर झूमाझटकी भी की गई। विवाद बढऩे पर निगम टीम ने महिलाओं को मारा भी। इस बात से गुस्साए उपायुक्त ने निगमकर्मी को चांटा मारा। हालांकि विवादों के बीच कार्रवाई जारी रही और एक के बाद एक रसूख के प्रतीक बाड़े और घर ध्वस्त होते गए। कार्रवाई के दौरान तीन मृत गायें भी मिली हैं। 

sirpur



107 निर्माण हो रहे ध्वस्त
 सिरपुर तालाब के सौंदर्यीकरण का काम जिला प्रशासन ने अपने हाथ में लिया है। कलेक्टर पी. नरहरि ने यहां का दौरा करते हुए सबसे पहले इसके कैचमेंट एरिया में मौजूद ग्वाला कॉलोनी को हटाने की बात कही थी। नगर निगम ने ग्वाला कॉलोनी का सर्वे कर किया है, जिसके अनुसार पशुपालकों को अलॉट प्लॉट में से केवल 107 ने ही यहां निर्माण किया है। इनकी लीज पहले ही निरस्त की जा चुकी है। इन्हें हटने का नोटिस देने के बावजूद पशुपालक  यहां से नहीं हटे।
 
इसलिए दो दिन आगे बढ़ी कार्रवाई
जिला प्रशासन के निर्देश के बाद गत सोमवार को नगर निगम ने यहां कार्रवाई की तारीख तय की थी। यहां मौजूद सभी लोगों को 24 घंटे में कॉलोनी खाली कर अपना निर्माण हटाने के लिए अंतिम नोटिस जारी कर दिया था। अवैध निर्माण तोडऩे की कार्रवाई बुधवार को होना थी। आईपीएल मैच के चलते पुलिस बल उपलब्ध नहीं होने से  कार्रवाई एक दिन आगे बढ़ा दी गई थी। इसके चलते शुक्रवार सुबह निगम ने दल-बल के साथ निर्माण तोडऩा शुरू किए। 


पशुओं को भेजेंगे गौशाला
निगम अफसरों के मुताबिक, पशुपालक पशुओं को सामने रखकर निर्माण बचाने की कोशिश कर सकते हैं। इसके चलते कार्रवाई के दौरान कोंदवाड़ा टीमें भी डंपरों के साथ तैनात रहेंगी। यदि पशुओं की आड़ लेकर पशुपालक बचने की कोशिश करते हैं तो पशुओं को जब्त कर उन्हें गौशाला भेजने का काम भी तुरंत किया जाएगा। 

WATCH VIDEO:


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned