असली चुनौती मैदान के बाहर है, तैयार रहें

Shruti Agrawal

Publish: Feb, 17 2017 11:07:00 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
असली चुनौती मैदान के बाहर है, तैयार रहें

असली चुनौती इस मैदान के बाहर है जहां आप खुद को साबित करने वाले हैं। प्रतियोगिता में हार या जीत को दरकिनार कर अपने हुनर को बनाए रखना ही असली जीत होती है। 


इंदौर।  कॉम्पीटिशन सिर्फ सोचने के लिए है। असली चुनौती इस मैदान के बाहर है जहां आप खुद को साबित करने वाले हैं। प्रतियोगिता में हार या जीत को दरकिनार कर अपने हुनर को बनाए रखना ही असली जीत होती है। इस कॉम्पीटिशन में आपको खुद को साबित करने का मौका मिल रहा है जो अच्छे फ्यूचर के लिए जरूरी है। 
ये कहना है जनरल मोटर्स के चीफ टेक्निकल ऑफिसर ब्रायन मैकमर्रे का। वे पीथमपुर के नैट्रिप स्थित बाहा एसएई 2017 के कॉम्पीटिशन के औपचारिक शुभारंभ अवसर पर बोल रहे थे। कार्यक्रम में धार विधायक नीना वर्मा ने कहा, ‘यह प्रतियोगिता 10 साल से लगातार चल रही है, जो हमारे लिए गर्व का विषय है। 



players2

इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्किल इंडिया का सपना भी साकार हो रहा है। बाहा ऑर्गनाइजर्स को हरसंभव मदद की जाएगी।’ कार्यक्रम के बाद बाहा वाहनों की रेस के लिए रिबन कटिंग सेरेमनी में एटीवी की टेस्ट ड्राइव लेते हुए यह चुटकी भी ली कि अपने चुनाव के प्रचार के लिए इस वाहन का इस्तेमाल करूंगी।


टेक्निकल मार्किंग के बाद डायनमिक इवेंट आज
टेक्निकल पार्ट में गुरुवार को निर्णायकों की टीम ने तमाम मेन बाहा व ई बाहा वाहनों के टेक्निकल इवोल्यूशंस, सेल्स, गो ग्रीन व कॉस्ट इवोल्यूशन पर नंबर दिए। शुक्रवार को बची हुई टीमों के टेक्निकल के साथ डायनमिक इवेंट्स भी ऑर्गनाइज किए जाएंगे। शाम को रॉक बैंड की परफॉर्मेंस भी रखी गई है।


players 3

हम किसी से कम नहीं
बाहा रेस गल्र्स पार्टिसिपेंट्स ने भी दबदबा बनाया हुआ है। पुणे के कमिन्स कॉलेज की टीम में सभी फीमेल मेंबर्स हैं। टीम मेंबर शुभद्रा व तमन्ना ने कहा, ‘पूरा व्हीकल हम लड़कियों ने तैयार किया है। हमें चैलेंज पसंद है, फिर सामने इंडियन टीम हो या दुबई की। रेस की तैयारी के दौरान परिवार से दूर रहना पड़ा जो मुश्किल था, लेकिन जीत का जुनून लिए सब मंजूर है।’ 


पॉजिटिव थॉट्स के साथ बढ़ रहे आगे
सांगली से अपनी इलेक्ट्रिक व्हीकल के साथ आई अमृता ने कहा, ‘रेस टफ है, लेकिन टीम मेंबर्स के पॉजिटिव थॉट्स के साथ आगे बढ़ रहे हैं। आठ महीने की मेहनत के बाद सपना साकार होता दिख रहा है। 22 मेंबर्स की टीम में 17 फीमेल्स हैं।’

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned