5 बदमाशों ने चाकू चलाकर की थी लूट, अब चढ़े पुलिस के हत्थे

Narendra Hazare

Publish: Nov, 30 2016 08:03:00 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
5 बदमाशों ने चाकू चलाकर की थी लूट, अब चढ़े पुलिस के हत्थे

विजय नगर व लसूडिय़ा इलाके में चाकू  चलाकर की थी लूट, हथियार छिपाने में मददगार भी पकड़ाया।

(पुलिस गिरफ्त में सभी बदमाश।)

इंदौर। विजय नगर व लसूडिय़ा इलाके में चाकूबाजी कर 5 लोगों को घायल करने व उनसे नकदी, मोबाइल लूटने वाले 6 बदमाशों को पुलिस ने पकड़ा है। एएसपी राकेश सिंह ने बताया कि मंगलवार को पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने शुभम कुशवाह निवासी कृष्णबाग कॉलोनी, रवि भदौरिया, जितेंद्र वर्मा, प्रवेश वर्मा, तुषार रायपुरिया, अरविंद रघुवंशी और विनोद यादव निवासी वेलोसिटी टॉकीज के पास को गिरफ्तार किया है। इनसे दो बाइक, एक एक्टिवा, एक चाकू, मोबाइल व नकदी रुपए बरामद किए। घेराबंदी के दौरान सभी ने भागने की कोशिश की जिसमें वे गिरकर घायल हो गए। पुलिस ने एमवाय अस्पताल में उनका मेडिकल कराया।

रविवार रात विजय नगर इलाके में यशवंत चौधरी, शैलेष यादव व लसूडिय़ा इलाके में सुनील सिंह राजपूत, सुरेश परते व परसराम सांवले पर चाकू से हमला कर मोबाइल व नकदी लूट लिए गए थे। वारदात में विनोद को छोड़कर अन्य आरोपित शामिल थे। बाद में जब वो घर पहुंचे तो विनोद ने चाकू छिपाने में उनकी मदद की थी। इसी के साथ एक-दो साथियों की भूमिका और सामने आ रही है जिन्होंने वारदात के बाद आरोपित को बचाने की कोशिश की। पुलिस सभी को बुधवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेगी। जितेंद्र, तुषार व शुभम पर मारपीट का एक केस खजराना थाने में दर्ज है। क्राइम ब्रांच, विजय नगर व लसूडिय़ा पुलिस की टीम को डीआईजी ने 24 घंटे में मामले का खुलासा करने के चलते 40 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

accused bike
( इनसेट- जब्त पीली अपाचे बाइक।)

पीली बाइक बनी मददगार

एएसपी क्राइम विनय प्रकाश पॉल ने बताया कि पीली बाइक की जानकारी पुलिस को मिली थी। ये अपाचे बाइक थी। पुलिस ने इंदौर, देवास व उज्जैन आरटीओ से इस बाइक की जानकारी निकाली। इंदौर में तीन बाइक होना पता चला। शुभम के पास भी पीली बाइक थी। वही घर से लापता था। इसी के बाद पुलिस की शंका उस पर बढ़ी। पता चला कि उसके माता-पिता की मौत हो चुकी है। एक छोटा भाई है वो भी अलग रहता है।

भाई से पुलिस ने नंबर मांगा तो शुभम के 12 नंबर मिले जो एक साल में वो इस्तेमाल कर चुका था। ये बाइक उसने 2009 में खरीदी थी। शुभम, रवि, विनोद नल फिटिंग, जितेंद्र पीओपी, प्रवेश, तुषार गाड़ी बनाने के कारखाने में काम करते हंै। रविवार रात रवि ने अपने घर सभी को पार्टी के लिए बुलाया। शराब पीने के बाद पैसे की तंगी का बात आई तो उन्होंने लूट का षड्यंत्र रचा। घटना के बाद सभी शुभम के घर जाकर सोए थे।

इस तरह हुई धरपकड़

- आरोपित की उम्र 20 से 22 वर्ष के बीच थी तो ऐसे 100 बदमाश पुलिस ने निकाले। सभी से पूछताछ की गई लेकिन भूमिका नहीं निकली।
- बदमाश मुख्य मार्ग का उपयोग नहीं करते हुए गलियों से निकले। इसके बाद पुलिस ने आसपास के तीन किलोमीटर के इलाके पर नजर रखी।
- घटना स्थल के आसपास करीब 50 सीसीटीवी कैमरों के फुटेज पुलिस को मिले। एक जगह लगे कैमरे में दो बाइक से जाते हुए आरोपित नजर आए। इन्हें घायलों ने भी पहचाना।
- बाइक शुभम कुशवाह की थी। उसका नंबर लेकर पुलिस ने तकनीकी माध्यम के सहारे अन्य साथियों के बारे में पता किया। इसी के बाद सबकी धरपकड़ हो सकी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned