दूसरी महिला के चक्कर में पत्नी को छोड़ा, महिला ने पुलिस से लगाई गुहार

Narendra Hazare

Publish: Oct, 18 2016 09:59:00 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
दूसरी महिला के चक्कर में पत्नी को छोड़ा, महिला ने पुलिस से लगाई गुहार

बिल्डर के गायब हो जाने पर महिला डॉक्टर ने की शिकायत, कॉलोनी के रहवासी ने बिल्डर पर वादाखिलाफी का लगाया आरोप।


इंदौर। पुलिस कंट्रोल रूम पर मंगलवार को हुई जनसुनवाई में एक महिला ने अपने आरआई पति पर दूसरी महिला के चक्कर में छोड़ देने का आरोप लगाया है। आरोप है पति ने विभाग के उच्चअधिकारियों का रौब झाड़ते हुए अपनी पत्नी व बच्चों का खर्चा पानी तक बंद करवा दिया है। मामले में डीआईजी ने उचित जांच के आदेश दिए हैं।

सोमानी नगर में रहने वाली चिंतामणी पति दुर्गाप्रसाद आर्य ने अपनी शिकायत में डीआईजी संतोष सिंह को बताया कि उनके पति दुर्गाप्रसाद पीआरटीएस में आरआई के पद पर है। पति ने दूसरी महिला के चक्कर में उसका और उसके दोनों बच्चों का हुक्का पानी तक बंद कर दिया है। वर्तमान में आरआई किसी राजेश्वरी नामक महिला के साथ रह रहे हैं। उससे उन्हें एक बच्चा भी है।


महिला ने आवेदन में एेसे ही कुल 17 प्रमाण बताए हैं। पति से खर्चा नहीं मिलने से बच्चे भी पढ़ाई से वंचित हो गए हैं। दुर्गाप्रसाद अपने आरआई होने का रौब झाड़ते हुए कहते हैं कि उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। महिला का कहना है कि वह इसके पूर्व भी जनसुनवाई में शिकायत कर चुकी है, लेकिन अब तक पति पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं हुई है।

sudha hans

डॉक्टर के रुपए लेकर बिल्डर गायब

जनसुनवाई में बिल्डर की वादाखिलाफी को लेकर भी कई लोग धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाने पहुंचे। ओल्ड पलासिया में रहने वाली डॉक्टर सुधा हंस भाटिया ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2000 में सेनी कंस्ट्रक्शन की प्रिंसेस स्टेट कॉलोनी में 2.5 लाख रुपए कीमत का प्लॉट खरीदा था। कॉलोनी लसूडि़या मोरी स्थित चोइथराम इंटरनेशनल के सामने है। बिल्डर का दफ्तर पहले नंदा नगर में था, लेकिन बाद में उसने जौहरी पैलेस में खोल लिया। कुछ दिन संपर्क रहने के बाद वे वहां से गायब हो गए। कॉलोनी की जमीन से बोर्ड भी गायब हो गया। बिल्डर अरुण डागरिया और महेंद्र जैन ने उनसे प्लॉट रजिस्ट्री के नाम लाखों रुपए ऐंठे हैं।


royal krishna

बिल्डर ने किया धोखा

जनसुनवाई में रॉयल कृष्णा बंग्लो के रहवासी बड़ी संख्या में बिल्डर की वादाखिलाफी की शिकायत करने पहुंचे। रहवासी संघ के सचिव महेश पाटिल ने बताया, लीजिंग एंड डेवलपर्स प्रा.लि. के डायरेक्टर सचिन शर्मा ने एबी रोड, राऊ पर वर्ष 2006 में 600 प्लॉट की कॉलोनी बनाई थी। वर्तमान में कॉलोनी में करीब 330 परिवार रह रहे हैं। आरोप है बिल्डर ने टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के नक्शे पर किसी और के नाम रजिस्टर्ड भूमि पर कॉलोनी की सामुदायिक भवन एवं विद्यालय दर्शा कर धोखाधड़ी की है।

वर्तमान में उक्त भूमि पर किसी किसान का कब्जा होने की बात सामने आई है। रहवासियों का यह भी आरोप है कि बिल्डर शर्मा ने कॉलोनी की आरक्षित 25000 वर्ग फीट भूमि भी आश्रय निधि जमा करवाकर उस पर अवैधानिक रूप से मल्टी स्टोरी का निर्माण शुरू कर दिया है। बिल्डर चाहता तो इस आरक्षित भूमि पर सामुदायिक भवन बनाकर रहवासियों को सौंप सकता था।

इसी तरह सुदामा नगर निवासी रश्मि आचार्य भी करीब 50 प्लॉट धारकों के साथ टी.डी.एस. इन्फ्रा डेवलपर्स व इन्फ्रा इस्टेट इंटरनेशनल लि. के कर्ताधर्ता द्वारा रजिस्ट्री की मूल प्रति एवं कब्जा नहीं देने की शिकायत करने पहुंची। आरोप है कंपनी के हरमन सिंह होरा व महेश नशीने ने प्लॉट के नाम पर 4.11 लाख रुपए लेने के बाद भी कब्जा नहीं दिया है।

शिकायत के दौरान युवती बेहोश

बरोठा, देवास में रहने वाली रीना सिंह एसपी मुख्यालय के दफ्तर में कोचिंग संचालक रूपाली जैन के खिलाफ शिकायत करने पहुंची थी। वह अधिकारी के कक्ष के बाहर अचानक चक्कर खाकर गिर गई। रीना के अचानक गिर जाने से स्टाफ में खलबली मच गई। ताबड़तोड़ सरकारी जीप मंगवाकर उसे उपचार के लिए महिला पुलिसकर्मी एमवाय लेकर पहुंची। अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, एमजी रोड स्थित आदिनाथ केयरवेल एजुकेशन सोसायटी की कर्मचारी है। कंपनी से तनख्वाह नहीं मिलने पर वह जैन के खिलाफ शिकायत करने पहुंची थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned