ठगी के लिए पत्नी को विधवा बहन बता करवाता था दूसरी शादी 

Indore, Madhya Pradesh, India
ठगी के लिए पत्नी को विधवा बहन बता करवाता था दूसरी शादी 

- आजाद नगर इलाके का मामला, नि:शक्त से शादी के नाम पर की धोखाधड़ी

इंदौर. आजाद नगर इलाके में नि:शक्त व्यापारी से शादी के नाम पर 30 हजार रुपए की ठगी की गई। आरोप है कि महिला पहले भी इस तरह नाम बदलकर शादी कर लोगों को धोखा दे चुकी है। इस बार भी जब वो घर से गायब होने की फिराक में थी तो परिवार ने उसे पकड़ लिया।

इदरिश नगर निवासी रज्जन तिवारी की 21 नवंबर को नीता शर्मा से कोर्ट व मंदिर में शादी हुई थी। रज्जन नि:शक्त है और घर पर किराना दुकान चलाता है। उसने शादी के लिए परिचित गुलाब ठाकुर से कहा था। उन्होंने इस बारे में आरती जैन नामक महिला को कहा तो उन्होंने नीता से मिलवाया।

शादी के लिए बात करने के लिए रज्जन के घर पर नीता, उसकी बहन अर्चना, जीजा अजय व भाई इंदर पहुंचे। नीता ने खुद को विधवा बताया था। दोनों परिवारों में बात होने के बाद शादी कर दी गई। नीता के परिजन ने बताया था कि दूसरी शादी करने पर उनके यहां दूल्हा पक्ष रुपए देता है, जिसके जेवर बनवा कर दुल्हन को दिए जाते हैं। 

इस तरह 30 हजार रुपए उन्होंने ले लिए। शादी के अगले दिन से ही नीता ने घर में हंगामा करना शुरू कर दिया। वो कहने लगी कि मुझे अपने घर जाना है। परिवार के लोग उसके इस व्यवहार से हैरान थे। उन्होंने कहा कि तुम्हारी शादी हुई है तो अब तो यही रहना होगा। नीता कहने लगी कि मैं सिर्फ चार दिन के लिए आई हूं तो अब यहां नहीं रहूंगी। इसी के बाद रज्जन ने नीता के परिवार को बुलाया। उनके बीच बात चलती रही। वो भी नीता को साथ ले जाने की ही जिद करते रहे।

यह भी पढ़ें- तलाक- तलाक-तलाक, शबाना ने खून से चीफ जस्टिस को लिखी दरख्वास्त!

वोटर आईडी से खुला राज

बुधवार को जब फिर भाई इंदर घर आया व नीता को ले जाने की कोशिश करने लगा तब परिवार उन्हें आजाद नगर थाने चलने को कहा। इसी के बाद इंदर ने घर से भागने की कोशिश की तो परिवार ने पकड़ लिया। उसके पास मिली थैली में कई दस्तावेज भी थे। इसी से उन्हें नीता का वोटर कार्ड मिला, जिसमें उसका नाम अनिता है और पति का नाम इंदर लिखा है। महिला जिसे अपना भाई बता रही थी वो असल में उसका पति है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned