जनसुनवाई: 'साहब हम ग्राहकों को डिस्काउंट देते हैं', एसोसिएशन ने माल देना किया बंद

Narendra Hazare

Publish: Oct, 18 2016 09:32:00 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
जनसुनवाई: 'साहब हम ग्राहकों को डिस्काउंट देते हैं', एसोसिएशन ने माल देना किया बंद

कलेक्टर को शिकायत में बताया कि हमारे लाभ में से डिकाउंट देना तो अपराध नहीं है।

(फरियादी लक्की अग्रवाल व  एमके सोनी।)

इंदौर। हम अपने लाभ में से डिस्काउंट देकर जनता को लाभ पहुंचा रहे हैं तो इंदौर केमिस्ट एसोसिएशन के निर्देश पर व्यापारियों ने माल देना बंद कर दिया है। एसोसिएशन का कहना है कि किसी भी ग्राहक को डिस्काउंट न दें, जबकि एसोसिएशन चुनाव नहीं होने से तीन साल से भंग है। जनता को इसके चलते परेशानी हो रही है।


मंगलवार को कलेक्टोरेट में जनसुनवाई के दौरान एडीएम अजयदेव शर्मा को न्यू अग्रवाल मेडीकोज के लक्की अग्रवाल व शकुन मेडीकोज के एमके सोनी ने शिकायत की कि हम अपने ग्राहकों को दवा पर 15 से 17 प्रतिशत तक डिस्काउंट देते हैं। एसोसिएशन डिकाउंट नहीं देने का दबाव बना रहा है। इसके चलते दवा बाजार स्थित व्यापारियों ने माल देना बंद कर दिया है।

एसोसिएशन ने छापामार कार्रवाई के साथ ही लाइसेंस खत्म करने की धमकी दी है। जब आरोग्य की मेडिकल दुकानों से जनता को डिकाउंट दिया जा सकता है तो हम क्यों नहीं दे सकते? डिकाउंट नहीं देने के लिए कोई नियम नहीं है। दो महीने से हम परेशान हैं और जनता को भी दवा नहीं मिल पा रही है। छह साल से एसोसिएशन के चुनाव नहीं होने से पिछले तीन साल से एसोसिएशन भंग है, बावजूद दादागीरी कर रहे हैं।


मेरे प्लॉट के क्षेत्र में किया निर्माण

पीडब्ल्यूडी के सेवानिवृत्त इंजीनियर सीडी चास्कर ने बताया कि 16, कुम्हार मोहल्ला बड़ा गणपति में उनका मकान है। 15 नंबर के प्लॉट पर मारुति अपार्टमेंट बना हुआ है। उन्होंने हमारे प्लॉट की ओर ऐसा निर्माण कर लिया है कि आए दिन परेशानी होती है। पहली मंजिल पर हेंगिग खिड़की और अन्य निर्माण करने से परेशान हैं। शिकायत के बाद भी निगम कार्रवाई नहीं कर रहा है।

एमवायएच में दी नकली नियुक्ति

रेवा राम, मुकेश मालवीय व संतोष सोलंकी सहित 9 लोगों ने शिकायत की कि स्नेहा यादव ने एमवाय अस्पताल में नौकरी देने के नाम पर पैसा लेकर फर्जी दस्तावेज दे दिए। नौकरी करने गए तो पूरा मामला उजागर हुआ। स्नेहा यादव ने धोखाधड़ी कर हमारे पैसे हड़प लिए। जब पैसा मांगने जाते है तो वह आत्महत्या करने की धमकी देते हैं। फर्जी लेटर, परिचय पत्र की प्रतिलिपि सहित पुलिस में शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned