जिनकी आंखें नहीं हैं, उन्हें खतरों से बचाएगी ये जैकेट 

Indore, Madhya Pradesh, India
जिनकी आंखें नहीं हैं, उन्हें खतरों से बचाएगी ये जैकेट 

इलेक्ट्रिकल डिपार्टमेंट के स्टूडेंट्स ने खास डिवाइस से तैयार की ये जैकेट, जानिए कैसे करती है दृष्टिबाधितों की मदद 

इंदौर। जो लोग देख नहीं सकते उनकी मदद के लिए शहर के स्टूडेंट्स ने एक खास जैकेट तैयार की है। दरअसल, स्टूडेंट्स ने दृष्टिबाधितों द्वारा प्रयोग में लाए जाने वाली जैकेट में इलेक्ट्रिक डिवाइस को लगाकर इसे तैयार किया है। यह जैकेट दृष्टिबाधितों को अपने चारों ओर की दिशा का बोध कराएंगी। इसे पहनकर वे आगे, पीछे, बाईं और दाईं ओर की वस्तुओं का आभास कर पाएंगे साथ में अन्य खतरों से भी बच पाएंगें। अल्ट्रासोनिक इन्फ्रारेड सेंसर, सोलर पैनल और रिचार्जेबल बैटरी लगी यह जैकेट चार फीट से अधिक की दूरी पर बाधा का पता लगा लेती है और जैकेट में कंपन और साउंड से उसकी सूचना जैकेट का इस्तेमाल करने वाले को देती है। 

500 रुपए की मामूली लागत से हुई तैयार  
शहर के एक निजी कॉलेज के इलेक्ट्रिकल डिपार्टमेंट के लास्ट इयर के स्टूडेंट्स दीपक शर्मा, श्रेया सिन्हा, प्रिया राय और पूर्णचंद्र की टीम ने इसे तैयार किया है। स्टूडेंट्स ने जैकेट में चार सेंसर लगाए हैं। दो सेंसर आगे और पीछे की वस्तु और दो बाएं और दाएं ओर के प्रति सचेत करेंगे। इसमें रिचार्जेबल बैटरी लगाई है जो सोलर पैनल से कनेक्ट है। रिचार्जेबल होने से इसे पहनकर कितनी भी दूरी की यात्रा तय की जा सकती है। बाज़ार में मौजूद स्टिक 3 से 20 हजार रुपए में उपलब्ध है लेकिन स्टूडेंट्स ने इस जैकेट को महज 500 रुपए की लागत में तैयार किया है। 


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned