ऑर्डर पर चुराते थे गाडियां

Indore, Madhya Pradesh, India
ऑर्डर पर चुराते थे गाडियां

बचपन से चोरी कर रहा सरगना, मौके पर बनाते थे चाबियां, 25 लाख का सामान  जब्त

इंदौर. पुलिस ने ऐसे वाहन चोर को पकड़ा है, जो दूसरे प्रदेशों से ऑर्डर मिलने पर टवेरा, बोलेरो जैसे चार पहिया वाहन चुराकर बेच देता था। गिरोह ने कई स्थानों पर गोदामों से अनाज भी चुराया और फिर उन्हें बेच दिया। करीब 25 लाख का सामान पुलिस ने जब्त किया है।


एएसपी अमरेंद्रसिंह के मुताबिक, चोरी के मामले में मनीष पिता मानसिंह चोपड़ा निवासी मेंडल, सिमरोल, नाना उर्फ काना उर्फ रेवसिंह पिता बंशीलाल निवासी ग्राम मेंडल और अर्जुन पिता बालसिंह निवासी ग्राम मेंडल को गिरफ्तार किया। आरोपितों से चोरी की दो बोलेरो, एक मारुति 800, एक टवेरा, चार दोपहिया वाहन तथा चोरी के वाहन से खुड़ैल, भंवरकुआं, तेजाजीनगर, आजादनगर, देवास आदि क्षेत्र के गोदामों से चोरी किया सोयाबीन, गेहूं, खली, लहसुन, उड़द आदि लाखों का खाद्यान्न भी जब्त किया। गिरोह का सरगना मनीष है। वह छोटी उम्र में कबाड़ चुराने के आरोप में पकड़ा गया था और इसके बाद से लगातार चोरी कर रहा है। कुछ समय पहले वह जेल से छूटा व दो साथियों के साथ फिर से चोरी करने लगा था। 


पुलिस को सूचना मिली, कुछ लोग चोरी का वाहन सस्ते में बेचने के लिए घूम रहे है। क्राइम ब्रांच के कर्मचारियों ने ग्राहक बनकर संपर्क किया और आरोपितों को चोरी के  वाहन सहित पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला, मनीष वाहन की डुप्लीकेट चॉबी बनाने में माहिर है। वह बोलेरो की सामान्य चॉबी बाजार से खरीद लेता था। चोरी के दो पहिया वाहन पर सवार होकर वह लोडिंग बोलेरो व टवेरा गाड़ी ढूंंढ़ते और रात में मौके पर जाकर तुरंत डुप्लीकेट चॉबी तैयार कर गाड़ी ले उड़ते थे।


आरोपी इलेक्ट्रॉनिक स्टार्ट सिस्टम वाली गाडिय़ों को निशाना नहीं बनाते थे। आरोपी बोलेरो व टवेरा ही चुराते थे। राजस्थान व अन्य दूसरे प्रदेशों में इनके संपर्क है। वहां से चोरी की गाड़ी का ऑर्डर इन्हें मिलता और ये वाहन चुराकर वहां भेज देते थे। आरोपी की निशानदेही पर अभी कई टवेरा वाहन मिलने की उम्मीद है। 


निशाने पर अनाज वाहन 
आरोपी इसके साथ ही अनाज से भरे चार पहिया वाहनों पर भी हाथ साफ करते थे। अनाज को किसी को बेचकर वाहन को सड़क किनारे खड़ा कर देते थे। कई बार वाहन वापस मिल जाने पर मालिक अनाज चोरी की रिपोर्ट भी नहीं करते थे। साथ ही उन गोदामों को भी वे निशाना बनाते जहां चौकीदार नहीं होता था। आरोपितों ने बताया, पालदा से पिकअप वाहन चुराकर उसमें पालदा के गोदाम से 10-11 कट्टे डालर चना व 10-11 कट्टे गेहूं चोरी कर उदय नगर में बेच दिया। एक अन्य गाड़ी पॉवर हाउस के पास से चुराकर पालदा के गोदाम से 20 कट्टे गेहूं चुराकर  भागे। यहीं से चोरी भी चोरी किया, दूधिया से चोरी वाहन में बिचौली मर्दाना के मकवाना फॉर्म से चना व गेहूं चुराकर दूसरी जगह बेच दिया था। कुल 11 चोरियों का लाखों का अनाज इनसे मिला है। इनसे पूछताछ में अन्य वारदातों का भी खुलासा होने की उम्मीद है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned