मानसून का इंतजार, दो दिन नहीं आया तो बोवनी पर संकट

indore
मानसून का इंतजार, दो दिन नहीं आया तो बोवनी पर संकट

प्रदेश में मानसूनी बारिश का इंतजार बढ़ता जा रहा है। मौसम विभाग ने पहले 14 से 17 जून के बीच प्रदेश में मानसून आने की संभावना जताई थी। इसी आधार पर किसानों ने प्री मानसून के दौरान हुई जोरदार बारिश के चलते सोयाबीन की बुआई कर दी।

इंदौर... प्रदेश में मानसूनी बारिश का इंतजार बढ़ता जा रहा है। मौसम विभाग ने पहले 14 से 17 जून के बीच प्रदेश में मानसून आने की संभावना जताई थी। इसी आधार पर किसानों ने प्री मानसून के दौरान हुई जोरदार बारिश के चलते सोयाबीन की बुआई कर दी। सोयाबीन उग भी गया, लेकिन तेज धूप और पानी नहीं आने से अब फसल सूखने का संकट मंडराने लगा है।

इस बार जून की शुरुआत से ही मौसम का रुख बदलने लगा था। बुआई लायक बारिश के बाद कई स्थानों पर किसानों ने बोवनी कर दी। इंदौर के आसपास पीपल्दा, पिवड़ाय, कंपेल, देवगुराडि़या, बिजलपुर आदि क्षेत्रों में सोयाबीन की बुआई कर दी गई। इसी बीच मौसम विभाग का अनुमान गड़बड़ा गया और मानसून के बादलों ने दक्षिण-पश्चिम की ओर जाने के बजाय, उत्तर-पूर्व की ओर रुख कर लिया। अरब सागर व बंगाल की खाड़ी से उठी नमी इस ओर पहुंच गई। मौजूदा स्थिति यह है कि पिछले 7-8 दिन से बारिश बंद है। किसान किशन मंडलोई ने कहा, अभी दो-तीन दिन और पानी आने की उम्मीद नहीं लग रही है। इससे सोयाबीन की फसल संकट में है। दोबारा बोवनी करना पड़ सकती है। इसके लिए बीज की आफत होगी। अभी तो सरकार ने बीज उपलब्ध करवा दिया, अब निजी लोगों से लेना होगा।

सोमवार भी सूखा
सोमवार को दिनभर उमस होती रही। बादलों की आवाजाही बनी रही, लेकिन पानी के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार भी अभी एक-दो दिन और मानसून का इंतजार करना होगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned