फरवरी में गिरा औद्योगिक उत्पादन, आईआईपी १.२ फीसदी सिकुड़ा

Industry
फरवरी में गिरा औद्योगिक उत्पादन, आईआईपी १.२ फीसदी सिकुड़ा

देश के औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार मापने वाले औद्योगिक उत्पादन सूचकांक ( आईआईपी) में मौजूदा वर्ष के फरवरी में 1.2 प्रतिशत का सिकुडऩ आया, जबकि फरवरी 2016 में यह आंकड़ा 1.9 प्रतिशत की बढ़त में रहा था। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों में बताया गया है कि वित्त वर्ष 2016-17 की अप्रैल से फरवरी तक की अवधि में आईआईपी की रफ्तार 0.4 प्रतिशत रही है। इससे पिछले वित्त वर्ष में यह आंकड़ा 2.6 प्रतिशत दर्ज किया गया था।

नई दिल्ली. देश के औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार मापने वाले औद्योगिक उत्पादन सूचकांक ( आईआईपी) में मौजूदा वर्ष के फरवरी में 1.2 प्रतिशत का सिकुडऩ आया, जबकि फरवरी 2016 में यह आंकड़ा 1.9 प्रतिशत की बढ़त में रहा था। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों में बताया गया है कि वित्त वर्ष 2016-17 की अप्रैल से फरवरी तक की अवधि में आईआईपी की रफ्तार 0.4 प्रतिशत रही है। इससे पिछले वित्त वर्ष में यह आंकड़ा 2.6 प्रतिशत दर्ज किया गया था।

आंकड़ों के अनुसार, 22 उद्योग समूहों में से 15 सकारात्मक रहे हैं। फरवरी में औद्योगिक रफ्तार खनन में 3.3 प्रतिशत और बिजली में 0.3 प्रतिशत रही है, जबकि विनिर्माण क्षेत्र में दो प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। फरवरी 2016 से अप्रैल 2017 की अवधि में खनन में 1.6 प्रतिशत और बिजली में 4.6 प्रतिशत तेजी आई है। 

इसी अवधि में विनिर्माण क्षेत्र का उत्पादन 0.3 प्रतिशत घटा है। सबसे ज्यादा बढ़त हासिल करने वाले क्षेत्रों में इलेक्ट्रिकल मशीनरी एंड उपकरण में 17.4 प्रतिशत, परिधान, ड्रेङ्क्षसग एवं फर की रंगाई में 10.7 प्रतिशत और आधारभूत धातु में 9.9 प्रतिशत की बढ़त हुई है। दूसरी ओर, तंबाकू उत्पादों में सर्वाधिक 43.8 प्रतिशत की गिरावट आई है। इसके बाद खाद्य पदार्थ एवं शीतल पेय पदार्थ में 21.7 प्रतिशत और कार्यालय, लेखा एवं कम्प्यूटर मशीनरी में 20.6 प्रतिशत की कमी आई है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned