जब 3 साल की बच्ची ने कहा हमें बचा लो.., वीडियो में सुनें पुकार

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
  जब 3 साल की बच्ची ने कहा हमें बचा लो.., वीडियो में सुनें पुकार

जबलपुर को स्वच्छता में नंबर वन बनाने और बेटी बचाव का दे रहीं संदेश, नन्हीं परी की आवाज सभी को कर देती मंत्र मुग्ध

जबलपुर। एक नन्ही सी परी..., जिसकी उम्र है महज साढ़े 3 वर्ष.., लेकिन उसकी आवाज में वह जादू है कि हर कोई सुनकर हतप्रभ रह जाता है। अपनी नटखट व सुरीली आवाज में संदेश ही कुछ ऐसा दे रही कि लोग सुनकर भावुक हो उठते हैं। हम बात कर रहे हैं पचमढ़ी में रहने वाली शैल्वी की...। उनके पापा जबलपुर में छावनी परिषद में कार्यरत हैं। शैल्वी अनूठे अंदाज में बेटी बचाओ और स्वच्छता का संदेश दे रही हैं। उनकी पुकार और आह्वान सुनकर हर कोई मुग्ध हो जाता है। 




यह दे रही संदेश
शैल्वी अपनी सुरीली आवाज में देश, प्रदेश और जबलपुर को स्वच्छ बनाने की अलख जगा रही है। शैल्वी कहती है कि वह स्वच्छता का संदेश लेकर आई हैं। नन्ही परी का कहना है कि घर घर में गूंजे यह नारा, स्वच्छ रहे जबलपुर हमारा। जबलपुर के नागरिकों, महिलाओं, दुकानदारों से निवेदन करते हुए कह रही है कि हर कोई यहां-वहां कचरा नहीं डालें डस्टबीन में इकट़टा करे। कचरा गाड़ी आने पर उसमें कचरा डालें। साफ सुथरा हो जबलपुर शहर, बच्चे रहें स्वस्थ सुंदर। जबलपुर को स्वच्छता में नंबर 1 बनाना है, आप सभी इसमें सहयोग करें।

 Beti Bachao Abhiyan

यह है बेटी बचाव का संदेश
मासूम पुकार कर रही है कि बेटियों को बचाया जाए। यह बात सुनकर हर कोई भावुक हो जाता है। शैल्वी का संदेश है कि बेटी बचाव बेटी पढाव, बेटी को मारोगे तो बहु कहा से लाओगे, बेटी घर की खुशियां हैं, लक्ष्मी हैं। बेटी घर का बोझ नहीं होती। बेटी है तो कल है। नन्ही परी अपनी पुकान उन लोगों तक पहुचाना चाह रही है जो बेटियों को कोख में मार देते हैं। 

केंट में है पिता
बेटी बचाव और स्वच्छता का संदेश दे रही शैलवी के पिता बृजलाल धुशिया छावनी कैंट कार्यालय जबलपुर में कार्यालय अधीक्षक हैं। शैल्वी पचमढ़ी के ही अरविंद कुमार-नितिन कुमार स्कूल में केजी 1 की छात्रा है जो पढऩे में भी होशियार है। शैल्वी अपने पापा की तरह ही देश की आन-बान और शान बढ़ाने के पथ पर अग्रसर है।

 Beti Bachao Abhiyan

हर किसी ने सराहा
शैल्वी की मां अनु ने बताया कि इसके साथ ही वह देश भक्ति, गाय और वन्य प्राणियों की सुरक्षा के संदेश सुनाती है। आरती, पोयम सहित कई ऐसे गानों से मंत्रमुग्ध कर देती है। शहर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान जब शैल्वी ने अपना संदेश सुनाया तो पूरा सदन तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठा। सांसद राकेश सिंह, महापौर स्वाति सदानंद गोडबोले, विधायक अशोक रोहाणी, कमिश्नर गुलशन बामरा ने सराहा। नन्ही बच्ची को संभागीय आयुक्त बामरा ने श्रीमद्भगवत गीता देकर सम्मानित किया। शैल्वी को यह हुनर उनकी मां अनु और पिता बृजलाल से मिलता है। शैल्वी की मां ने बताया कि कोई भी बात इसे जल्दी याद हो जाती है। खास बात यह है कि शैल्वी बगैर हिचकिचाहट के धारा प्रवाह बोलती है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned