OMG: 700 से ज्यादा हाइवा-डंपरों का रजिस्ट्रेशन ही नहीं

Ajay Khare

Publish: Nov, 30 2016 12:03:00 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh State Highway 22, South Civil Lines, Madhya Pradesh, India
OMG: 700 से ज्यादा हाइवा-डंपरों का रजिस्ट्रेशन ही नहीं

नो-एंट्री में भी घुसकर ताडंव मचा रहे, हादसे और अवैध परिवहन के वक्त बच निकलने का रास्ता 

जबलपुर।  शहर में नो-एंट्री में भी घुसकर ताडंव मचा रहे तीन हजार डम्पर-हाईवा बिना नंबर के दौड़ रहे हैं। हादसा होने पर इन वाहनों की पहचान मुश्किल होती है। परिवहन सूत्रों की मानें तो 700 डम्पर व हाइवा बिना रजिस्ट्रेशन के चल रहे हैं। इसमें बड़ी संख्या चोरी के वाहनों की है। सबसे अधिक चोरी वाले डम्पर-हाईवा रेत सहित अन्य खनिज खनन में लगे हैं। परिवहन विभाग के रिकार्ड में 16 हजार डम्पर-हाइवा रजिस्टर्ड हैं, लेकिन जिले में 20 हजार के लगभग चल रहे हैं। पत्रिका ने मंगलवार को शहर के अलग-अलग इलाकों की पड़ताल की तो सर्वाधिक संख्या बिना नंबर वाले हाइवा-डम्पर की दिखी।  
dumper2

इस तरह होता है 'खेल'
परिवहन सूत्रों के अनुसार जिले में सबसे अधिक डम्पर-हाइवा दर्जन भर लोगों के पास हैं। इनमें से तीन विभिन्न राजनीतिक पार्टियों से जुड़े हैं। जबकि अन्य रेत और ठेके से जुड़े लोग हैं। इनके नाम पर परिवहन विभाग में 437 डम्पर-हाइवा रजिस्टर्ड हैं। बिना नंबर डम्पर-हाइवा होने से टैक्स बचाने के साथ ही पकड़े जाने पर बचने का भी रास्ता निकल जाता है। अमूमन किसी भी हादसे के समय पुलिस द्वारा इंजन या चेचिस नंबर का मिलान नहीं किया जाता। वाहन मालिक इसी का फायदा उठाते हैं। नंबर न होने पर डम्पर-हाइवा पकड़ भी लिए गए तो वे रजिस्टर्ड वाहन के कागजात दिखाकर बच जाते हैं।  

हादसे की वजह भारी वाहन 
यादव कॉलोनी के मेहता पेट्रोल पंप के पास आए दिन सड़क हादसे हो रहे हैं। हादसे की वजह कछपुरा मालगोदाम से निकलने वाले भारी वाहन हैं। तेज रफ्तार में दौड़ते इन ट्रकों और डंपरों के कारण कई लोग जहां अपनी जान गवां चुके हैं, वहीं कई बुरी तरह जख्मी हो चुके हैं।  इसमें सेंट नॉबर्ट स्कूल की 16 वर्षीय छात्रा आयुषी भी शामिल है। वहीं पास में ही रहने वाला युवक के पैर में हादसे के चलते एेसी चोट आई कि वो विकलांग हो गया। पूर्व में कछपुरा मालगोदाम को शिफ्ट करने की योजना बनी, लेकिन अधिकारियों की दिलचस्पी न होने से याजना परवान नहीं चढ़ सकी। 
dumper 1

ये है नियम
-रजिस्ट्रेशन न होने पर वाहन खरीदी से पकड़े जाने तक का पूरा टैक्स
-डम्पर का हर तीन महीने में 4250 रुपए और हाइवा का 6250 रुपए टैक्स बनता है
-रजिस्ट्रेशन न होने पर पांच हजार रुपए जुर्माना
-फिटनेस के एवज में पांच हजार जुर्माना
-परमिट के एवज में पांच हजार जुर्माना
-बीमा के एवज में पांच हजार जुर्माना
-व्यावसायिक लाइसेंस न होने पर तीन हजार जुर्माना

यहां हो रहा सबसे अधिक उपयोग
-रेत खनन और परिवहन में
-गिट्टी क्रेशरों में
-मिट्टी की ढुलाई में
-खनिज खनन में

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned