ये महिला करती थी कैदियों से वसूली, हैरान कर देगा इसका कारनामा

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
ये महिला करती थी कैदियों से वसूली, हैरान कर देगा इसका कारनामा

जेल के भीतर जमानत के नाम पर अवैध वसूली का कारोबार चल रहा है। इसका खुलासा शुक्रवार को हुआ।

जबलपुर। जेल के भीतर जमानत के नाम पर अवैध वसूली का कारोबार चल रहा है। इसका खुलासा शुक्रवार को उस वक्त हुआ जब प्रेम सागर निवासी गोविंद जेल में बंद अपने चचेरे भाई चंदन से मिलने पहुंचा। वह मुलाकात जाली में खड़ा ही था तभी चंदन को लेकर कैदी अजय और विचाराधीन बंदी सुरेश वहां पहुंचे दोनों ने गोविंद से कहा कि वह जल्द ही चंदन की जमानत करा देंगे। इसके बाद दोनों बंदियों ने थोड़ी दूर खड़ी बलदी कोरी दफा निवासी दुर्गा पति अजय बंशकार की ओर इशारा करते हुए कहा कि वह जेल पहरी है उसे जाकर ₹10000 दे दो। जिसके बाद चंदन की जमानत जल्द ही हो जाएगी। 

गोविंद को तीनों की बातों पर संदेह हुआ जिसके बाद उसने सिविल लाइन पुलिस से मामले की शिकायत की। सिविल लाइन थाना पुलिस के अनुसार शिकायत के बाद तत्काल पुलिस कर्मी वहां पहुंचे और दुर्गा को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मामले में अजय और सुरेश को भी आरोपी बनाया है। आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी और अवैध वसूली का मामला दर्ज किया गया है।


जेल में बंद है पति
पुलिस के अनुसार दुर्गा का पति अजय बंशकार जेल में बंद है वह नंबरदार भी है। अजय गोविंद के भाई चंदन को लेकर मुलाकात जाली में पहुंचा था इसके बाद अजय और उसके साथी सुरेश ने दुर्गा की ओर इशारा कर दुर्गा को ₹10000 देने की बात कही थी और उसे जेल पहरी बताया था जबकि दुर्गा न जेल पहरी है और ना ही बंदी।


जेल अफसरों की मिली भगत
आरोपियों से की गई प्राथमिक पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि इस पूरे रैकेट में जेल के कर्मचारियों से लेकर अफसरों तक की मिली भगत है। अफसरों के इशारे पर यह अवैध वसूली का धंधा बंदियों द्वारा किया जा रहा है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned