जबलपुर के इस खिलाड़ी ने इंडिया के लिए जीता स्वर्ण पदक, विदेश में लहराया परचम

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
   जबलपुर के इस खिलाड़ी ने इंडिया के लिए जीता स्वर्ण पदक, विदेश में लहराया परचम

ब्रिक्स खेलों में वुशु की स्पर्धा में हुआ शामिल

जबलपुर। ताशकंद में हुई एशियन-ओसियाना जूडो चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन कर सिहोरा के कुर्रे गांव की दिव्यांग जानकी ने मई माह में कांस्य पदक जीत कर गर्व से देश का सीना चौड़ा कर दिया था। वहीं आज 19 जून को जबलपुर के अंजुल नामदेव ने फिर से शहर, प्रदेश और देश का मान विश्व में बढ़ाया है। अंजुल ने चीन में चल रही मार्शल आर्ट खेल वुशु में स्वर्णपदक जीता है। खिलाड़ी के इस सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से पूरे देश में हर्ष का माहौल है। खिलाड़ी सहित परिजनों, कोच व पैरेट़्स को बधाई देने का सिलसिला शुरु हो गया है।



स्वर्णपदक पर जमाया कब्जा
जानकारी के अनुसार चीन के ग्वांगझू शहर में वुशु की प्रतियोगिता चल रही हैं। यह प्रतियोगिताएं 17 जून से 21 जून तक चल रही हैं। प्रतियोगिता में 5 देशों के खिलाड़ी शामिल हैं। इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए देश से 10 सदस्यीय टीम रवाना हुई। टीम में 4 लड़के 4 लड़कियां शामिल हैं। उसमें जबलपुर से अंजुल नामदेव व पूर्वी सोनी ने भी नेतृत्व किया। मार्शल आर्ट खेल वुशु में अंजुल ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए स्वर्णपदक का खिताब अपने नाम किया है। बताया जा रहा है कि अंजुल पहले भी इंटरनेशल प्रतियोगिताओं में भाग ले चुका है। 

Anjul Namdev won gold medal in martial arts


हासिल किए 28.65 अंक 
17 से 19 जून तक चीन के ग्वांझऊ शहर में आयोजित ब्रिक्स गेम में भारतीय वूशु दल का प्रतिनिधित्व करते हुए जबलपुर के खिलाड़ी अंजुल नामदेव ने कुल 28.65 अंक हासिल कर स्वर्णपदक पर कब्जा किया। जबकि चीन के खिलाड़ी को 28.60 अकों के साथ रजत पदक व रशिया के खिलाड़ी को 27.6 अंकों के साथ कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। 

ऐसे हुआ उलटफेर
18 जून तक चले चनक्वान एवं जियान्शु इवेंट में प्राप्त अंकों के आधार पर भारतीय खिलाड़ी अंजुल दूसरे व चीनी खिलाड़ी पहले स्थान पर थे। 19 जून को अंजूल ने शानदार प्रदर्शन करते हुए क्यांगशू इवेंट में सर्वाधिक 9.63 अंक हासिल कर स्वर्ण पदक पाकर पूरे विश्व को चौका दिया है। ब्रिक्स गेम में 8 सदस्यी टीम भारतीय वूशु दल ने 2 स्वर्ण, रजत एवं कांस्य 2 सहित कुल 8 पदक हासिल किए हैं। पूर्वी सोनी चौथे स्थान पर रहीं। अंजुल के कोच मनोज गुप्ता ने हर्ष व्यक्त किया है। अंजुल के इस प्रदर्शन पर भारतीय वूशु संघ के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह बाजवा, सोहेल अहमद, डॉ. जितेंद्र जामदार, एनके त्रिपाठी, क्षेत्रीय निदेशक साई मीना बोरा, खेल संचालक उपेंद्र जैन, मप्र आलंपिक संघ के सचिव दिग्विजय सिंह ने बधाई दी है।


गर्व से सीना किया चौड़ा
ब्रिक्स खेलों में वुशु की स्पर्धा में भारत के लिए शहर के खिलाड़ी अंजुल नामदेव ने स्वर्ण पदक जीतकर गर्व से सीना चौड़ा कर दिया है। अंजुल कल तक दूसरे स्थान पर थे आज उनका तीसरा इवेंट था उस में सर्वाधिक अंक लेकर उन्होंने देश को स्वर्ण पदक दिलाया। इन खेलों में एक स्वर्ण पदक एक रजत और एक कांस्य पदक जीता था अब उसकी स्वर्ण की संख्या 2 हो गई है। बतों दें कि इन खेलों में तीन प्रकार के इंवेट होते हैं, जिसमें सर्वाधिक अंक मिलते है उसे स्वर्ण पदक मिलता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned