Note Ban: इन बिल्डरों ने सरेंडर की कराड़ों की रकम, हड़कम्प

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
Note Ban: इन बिल्डरों ने सरेंडर की कराड़ों की रकम, हड़कम्प

आयकर विभाग ने कई बिल्डरों के ठिकानों पर की कार्रवाई, महत्पूर्ण दस्तावेज जब्त, छानबीन जारी

जबलपुर। आयकर विभाग की इन्वेस्टीगेशन विंग की छापा कार्रवाई के तीसरे दिन गुरुवार को भी जारी रही। इस क्रम में रियल स्टेट के कारोबार से जुड़े कई बिल्डरों के ठिकानों पर दबिश दी गई। यहां से भारी मात्रा में दस्तावेज जब्त किए गए। इनकी छानबीन जारी है। वहीं कार्रवाई के दौरान शहर के दो बिल्डर्स ने पांच करोड़ रुपए सरेंडर भी किए। कार्रवाई को लेकर रियल स्टेट के क्षेत्र में हड़कम्प का माहौल है। 

मिले पुराने नोट

जानकार सूत्रों के अनुसार आयकर विभाग की टीम ने सोमवार को गाला डवलपर्स, स्टार डवलपर्स, सेंचुरी डवलपर्स, कल्याणिका बिल्डर्स एंड डवलपर्स और सेंक्युरी डवलपर्स के यहां छापा मारा था। बड़ी मात्रा में पुराने नोट खपाने की जानकारी विभाग को मिली थी। इन्हीं नोट से जमीन और मकानों की खरीदी-बिक्री की गई। जांच अधिकारियों को हजारों रुपए के 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट भी मिले हैं।

इससे पहले 22 करोड़

अधिकारियों के अनुसार गाला डवलपर्स और स्टार डवलपर्स की तरफ से पांच करोड़ रुपए सरेंडर किए गए। स्टार डवलपर्स के यहां इससे पहले भी कार्रवाई की गई थी, उसमें करीब 22 करोड़ रुपए सरेंडर किए गए थे। इन डवलपर्स के विजय नगर सहित दूसरे स्थानों पर बडे़ हाउसिंग प्रोजेक्ट चल रहे हैं।

खरीदी-बिक्री का अंतर

आयकर विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विभाग शिकायत के आधार पर कुछ चिन्हित बिल्डर्स के यहां आयकर सम्बंधी गड़बडि़यों की जांच कर रहा है। इसके तहत बुधवार शाम को ही कई बिल्डरों के यहां कार्रवाई करके दस्तावेज जब्त कर लिए गए थे। गुरुवार को इनकी स्क्रूटनी शुरू की गई। इनमें इस बात पर भी ध्यान दिया जा रहा है कि 8 नवम्बर और उससे पहले की खरीदी और बिक्री में कितना फर्क है?

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned