BREAKING: 48 घंटे के अंदर गौर, परियट और हिरण नदी के तट से हटेंगी डेयरियां

balmeek pandey

Publish: Apr, 21 2017 01:51:00 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
BREAKING: 48 घंटे के अंदर गौर, परियट और हिरण नदी के तट से हटेंगी डेयरियां

एक सप्ताह में डेयरियों को ढहाने कलेक्टर ने दिए सख्त आदेश, प्रदूषण को रोकने चलाई जाएगी मुहिम

जबलपुर। मनमाने तरीके से डेयरियों का संचालन कर गौर, परियट और हिरण नदी को बर्बाद करने वालों की अब खैर नहीं। कलेक्टर महेशचंद चौधरी ने 48 घंटे के अंदर नदी तटों पर संचालित लगभग 10 बड़ी डेयरियों से मवेशी हटा लेने के आदेश जारी करते हुए अधिकारियों को प्रभावी कार्रवाई करने कहा है। आदेश में स्पष्ट किया गया है कि मवेशियों के हटाने की कार्रवाई के साथ ही एक सप्ताह के अंदर इन डेयरियों को ढहाने की कार्रवाई की जाए। उक्त आदेश नदियों के प्रदूषण की रोकथाम और क्षेत्र में बढ़ रहे प्रदूषण को दृष्टिगत रखते हुए लिया गया है। 


यह है मामला
जानकारी के अनुसार शुक्रवार को कलेक्टर महेशचंद चौधरी ने विशेष बैठक बुलाई। बैठक में पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के अधिकारी, आयुक्त नगर निगम वेद प्रकाश, एडीएम छोटे सिंह, एसडीएम, जिला पंचायत सीईओ हर्षिका सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में निर्णय लिया गया कि 48 घंटे के अंदर मवेशी हटा लिए जाएं। इसके साथ ही मवेशी हटाने की सूचना डेयरियों में चस्पा की जाए। 

10 डेयरियां पर होगी पहले कार्रवाई
उल्लेखनीय है कि परियट, हिरण और गौर नदी के तट पर लगभग 70 से 80 डेरियों का संचालन नियम विरुद्ध तरीके से हो रहा है। इतना ही नहीं डेयरियों से निकलने वाला मवेसियों का मलमूत्र सीधे नदी में बहाया जा रहा है, जिससे ये स्वच्छ नदियों न सिर्फ नाले में तब्दील हो गई हैं बल्कि मरणासन्न स्थिति में पहुंच गई हैं। यही हाल हिरण नदी का भी है। नदियों को पुन: नया जीवन देने जिला प्रशासन सख्ती बरतेगा।

एक सप्ताह में गिराने की कार्रवाई
बताया जा रहा है कि कलेक्टर ने अधिकारियों को सख्त आदेश दिए हैं कि अब नदि के तट पर डेयरियों का संचालन नहीं होगा। 48 घंटे के अंदर मवेशियों को वहां से हटाने व एक सप्ताह के अंदर डेयरियों को हटाया जाने की कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही अन्य डेयरियों पर कार्रवाई की जाएगी, ताकि नदियों को संरक्षित किया जा सके। उल्लेखनीय है कि लगातार प्रशासन की चेतावनी के बाद भी डेयरी संचालक प्रदूषण कम करने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब प्रशासन की सख्ती से नदियों का जीवन बचाया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned