निशाने पर बिल्डर की कमाई, आईटी खंगाल रही कुंडली

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
निशाने पर बिल्डर की कमाई, आईटी खंगाल रही कुंडली

अफसरों को घेर कर पीटने वाला बिल्डर अब सीधे पुलिस और आयकर विभाग के निशाने पर आ गया है। 

जबलपुर। आईटी छापे के दौरान अफसरों को घेर कर पीटने वाला बिल्डर अब सीधे पुलिस और आयकर विभाग के निशाने पर आ गया है। टीमें अब बिल्डर की कुंडली खंगालने में जुट गई हैं। सूत्रों की मानें तो कम समय में अधिक संपत्ति जमा करने के मामले पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है। 

रियल एस्टेट में लगाया पैसा 
पिछले 24 घंटे में यह बात सामने आई है कि सत्यम कुछ साल पहले ऐसे कारोबार से जुड़ गया था, जिसमें उसने खूब पैसा बनाया और धीरे-धीेरे इसे रियल एस्टेट के कारोबार में लगाया। यह भी बात सामने आई है कि वह मोबाइल फोन पर सट्टा लिखता था। धीरे-धीरे उसने इसे बढ़ाया और बड़ा नेटवर्क बना लिया था।  इधर, गोरखपुर पुलिस ने सत्यम के एक साथी को गुरुवार को दबोच लिया। बताते हैं कि कारोबार को बढ़ाने के लिए उसने पुलिस के सिपाही से लेकर अफसरों से भी सांठगांठ कर रखी थी। सत्यम की गिरफ्तारी के लिए गोरखपुर पुलिस की तीन टीमों ने उसके घर समेत कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन उसका पता नहीं चला। हालांकि, पुलिस ने हमलावरों में शामिल बलराम को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस साइबर सेल के जरिए भी सत्यम के मोबाइल की लोकेशन ट्रैस कर रही है।  

आईजी से मुलाकात
आयकर विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर (अनवेषण) राम तिवारी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ गुरुवार को पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय पहुंचे और आईजी डी. श्रीनिवास राव से मुलाकात की। आईटी अधिकारियों ने गोरखपुर में हुए घटनाक्रम में आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। इसके साथ ही भविष्य में कार्रवाई के दौरान ज्यादा पुलिस बल दिए जाने की बात कही। आईजी ने हरसम्भव मदद का भरोसा दिलाया। 

कर्मचारियों में आक्रोश
उन्होंने इस घटना से आयकर विभाग के डायरेक्टर जनरल (इन्वेस्टीगेशन) को अवगत कराया है। मांग की गई कि अ आयकर अधिकारियों के साथ मारपीट की घटना से विभाग अधिकारी एवं कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। उन्होंने इस घटना से आयकर विभाग के डायरेक्टर जनरल (इन्वेस्टीगेशन) को अवगत कराया है। मांग की गई कि अधिकारियों को जांच के दौरान पर्याप्त पुलिस बल मुहैया कराया जाए। एेसा नहीं होने पर जांच करना कठिन होगा। अधिकारी एवं कर्मचारी संघों ने चेतावनी भी दी है कि यदि एेसी घटनाएं दोहराई जाती हैं तो फिर आंदोलन के साथ दूसरे बडे़ कदम भी उठाए जाएंगे।

एक आरोपित बलराम को गिरफ्तार कर लिया गया है। सत्यम व अन्य की तलाश के लिए गोरखपुर थाने की टीमें लगी हैं। 
अंजुलता पटले, सीएसपी, गोरखपुर 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned