ये हैं 25 करोड़ के बल्ब, जानें इनमें क्या है खूबी!

Lali Kosta

Publish: Oct, 19 2016 08:57:00 (IST)

Shakti Bhawan, Rampur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India
ये हैं 25 करोड़ के बल्ब, जानें इनमें क्या है खूबी!

करोड़ों रुपए खर्च के बाद भी राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत हजारों बीपीएल परिवारों को नहीं मिला बिजली कनेक्शन

कटनी राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना के अंतर्गत 25 करोड़ रुपए खर्च करने के बाद भी जिले में 9502 गरीब परिवारों के घर बिजली नहीं पहुंच सकी है। गरीब परिवार रोशनी का पर्व दीपावली इस वर्ष अंधेरे में मनाने मजबूर होंगे। इन परिवारों के अलावा जिले के चार गांवों में बिजली ने अबतक दस्तक नहीं दे सकी है।  बिजली न होने के कारण घर वीरान होते जा  रहे हैं। 60 फीसदी से अधिक परिवार गांव से निकलकर शहरों में बसने को मजबूर  हो गए है। 

जानकारी के अनुसार राजीव गांधी विद्युतीकरण  योजना के तहत करोड़ों रुपए खर्च जिलेभर में बिजली के खंभे और विद्युत कनेक्शन पहुंचाया गया है। योजना के तहत जिलेभर में 17967 बीपीएल श्रेणी के परिवारों को विद्युत कनेक्शन दिया जाना था, लेकिन यह कार्य धीमी गति से चल रहा है। ठेका कंपनी की लेतलतीफी के कारण 1 वर्ष बीतने के बाद भी विद्युत कंपनी जिले में अबतक 8474 परिवारों को ही बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवा सकी है। बिजली न होने की समस्या का सामना सबसे अधिक बड़वारा व विजयराघवगढ़ में लोगों को करना पड़ रहा है। 

देख रहे सौर ऊर्जा के सपने
फीडर सेपरेशन योजना के तहत किए जा रहे कार्यों में ढीमरखेड़ा के मदनपुर, शहडार, खरहटा व बहोरीबंद मे हाथिमार गांव को बिजली व्यवस्था से दूर रखा गया है। दरअसल जंगलों के बीच स्थित गांवों में सौरऊर्जा के तहत रोशनी प्रदान करने का प्रस्ताव 2013-2014 में विद्युत कंपनी ने ऊर्जा विकास निगम को भेजा था, जिसे स्वीकृति प्रदान की गई थी। स्वीकृति के दो वर्ष बीत जाने के बावजूद अबतक इन गांवों में कार्य शुरू नहीं किए गए हैं। 

कार्रवाई की जाएगी
विद्युत वितरण कंपनी अधीक्षण यंत्री एलपी खटीक ने बताया कि राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना के तहत जिले में 17967 बीपीएल परिवारों को विद्युत कनेक्शन प्रदान किए जाने हैं। फरवरी तक कार्य पूर्ण किया जाना है। यदि कार्य धीमी गति से किया जा रहा है तो इसकी जानकारी लेकर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned