UPSC EXAM में पूछे गए पीएम मोदी की इन सबसे बड़ी योजनाओं से जुड़े सवाल, जानिए क्या थे ये प्रश्न

balmeek pandey

Publish: Jun, 19 2017 05:27:00 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
UPSC EXAM में पूछे गए पीएम मोदी की इन सबसे बड़ी योजनाओं से जुड़े सवाल, जानिए क्या थे ये प्रश्न

शहर में 8000 से अधिक परीक्षार्थियों ने दी देश की सबसे बड़ी परीक्षा, दो और इम्तिहान से जूझे छात्र

जबलपुर। देश की सबसे प्रतिष्ठित संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विस प्रारंभिक परीक्षा-2017 शहर के 21 सेंटर्स में संपन्न हुई। उम्मीद के इतर इस बार प्रश्न पत्र काफी सरल रहा।  देश में सबसे ज्यादा चर्चित मुद्दा इस समय जीएसटी है। प्रश्न पत्र में भी जीएसटी के संभावित लाभ पूछे गए हैं। इस बीच एक ओर जहां मोदी सरकार की योजनाएं एनएसक्यूएफ, विद्यांजलि योजना और स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन जैसे कई सवालों से डिजीटल इंडिया की झलक दिखाई दी। शहर के छात्र भी बड़ी संख्या में शामिल होते रहे हैं। इस बार भी लगभग 8215 स्टूडेंट्स दोनों पेपर्स में शामिल हुए।


पेपर्स में जीएस और सीसेट शामिल
पहला पेपर सुबह 9.30 बजे से हुआ जबकि दूसरा पेपर दोपहर 2.30 बजे से। दो-दो घंटे चले इन पेपर्स में जीएस और सीसेट शामिल रहा। सबसे मजेदार बात ये रही कि पेपर ईजी था, जिसके चलते कटऑफ 120 तक जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। सिविल सर्विसेस फाउंडेशन क्लब के फाउंडर लक्ष्मीशरण मिश्रा ने पेपर के बाद विश्लेषण भी जारी किया, जिसमें उन्होंने बताया कि पीएम का ट्विटर पेज फॉलो करिए, प्रीलिम्स के लिए साल भर किताबें खंगालने की जरूरत नहीं पड़ेगी। 

कड़ी चैकिंग 
पहले पेपर में सभी सेंटर में परीक्षार्थियों की कड़ी चैकिंग हुई। एसडीएम सुनील कुमार शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि 21 सेंटर्स में परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति नहीं बनीं। इस परीक्षा में 8215 छात्रों का पंजीयन शहर से हुआ था। 


विश्लेषण एक नजर में
- 50 प्रतिशत से ज्यादा प्रश्न इंडियन ईयर बुक आए हैं 
- जियोग्राफी के सवाल 6वीं क्लास के किसी स्टूडेंट ने बनाए हैं
- हिस्ट्री के प्रश्न हर बार की तरह स्पेक्ट्रम नामक ग्रंथ की पहुंच से बाहर हैं
- कल्चर के सभी प्रश्न नितिन सिंघानिया की बुक से उठाए गए हैं
- इकोनॉमी के सारे सवाल सरकार का गुणगान करने के लिए नीति आयोग ने खुद बनाए हैंं 
- पॉलिटी के सभी प्रश्न लॉजिकल हैं जिसके लिए लक्ष्मीकान्त की किताब पर्याप्त नहीं है
- इंटरनेशनल रिलेशन के ज़्यादातर सवाल विजन/इन साइट के नोट्स से बाहर के हैं 
- डिमोनेटाईजेशन और डिजीटल इंडिया पर एक दर्जन से ज्यादा सवाल पूछे गए हैं
- साइंस के सवाल देखकर लगता है कि अब इस विषय का नाम बदलकर लाइफ स्टाइल कर देना चाहिए 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned