जब आरटीओ ने पकड़ी बस ऑपरेटर की कॉलर

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
   जब आरटीओ ने पकड़ी बस ऑपरेटर की कॉलर

ऑपरेटर ने लगाया अभद्रता व झूमाझटकी का आरोप, आरटीओ ने भी की थाने में शिकायत

जबलपुर। आरटीओ परिसर में बुधवार को बस ऑपरेटर ने परमिट रद्द हो जाने पर हंगामा कर दिया। उसने आरटीओ पर अभद्रता व झूमाझटकी का आरोप लगाया, वहीं आरटीओ ने कहा कि ऑपरेटर का परमिट रद्द होने पर वह आक्रोशित हो गया और उनके कार्यालय में अभद्रता करने लगा था। काफी मशक्कत के बाद उसे बाहर किया गया। दोनों पक्षों ने मामले की शिकायत सिविल लाइंस थाने में की।


दमोह से नरसिंहपुर चलने वाली शारदा बस सर्विस की टाइमिंग को लेकर कई आपत्तियां आरटीओ के पास पहुंच रही थीं। इस पर सुनवाई के लिए आपत्तिकर्ता और शारदा बस सर्विस के संचालक प्रशांत दुबे को आरटीओ कार्यालय बुलाया गया था। 
रतन नगर निवासी प्रशांत दुबे ने बताया कि वे वहां व्यवसायी प्रतिद्वंदी से बातचीत कर रहे थे। इसके बाद वहां से चले गए। दोपहर लगभग पौने एक बजे वे फिर आरटीओ कार्यालय पहुंचे और आरटीओ जितेन्द्र रघुवंशी के कक्ष में चले गए। वे अंदर घुसे ही थे कि आरटीओ ने उनका गिरेबान पकड़कर झूमाझटकी की। मामले की शिकायत प्रशांत ने सीएम हेल्प लाइन और सिविल लाइंस थाने में की है।


ये कह रहे RTO

इधर, आरटीओ जितेन्द्र रघुवंशी का कहना है कि दुबे की बसों की टाइमिंग के चलते विवाद की स्थितियां बन रही थीं। इस पर टीकमगढ़ के एक ऑपरेटर ने आपत्ति की गई थी। सुनवाई के लिए दोनों पक्षों को बुलाया गया था। प्रशांत ने टीकमगढ़ के ऑपरेटर से उनकी मौजूदगी में अभद्रता की। प्रशांत काफी उग्र हो गया था। उन्होंने समझाने का प्रयास किया, तो प्रशांत ने उनसे भी अभद्रता की। उसके बाद प्रशांत को सख्ती से दफ्तर के बाहर किया गया और पुलिस को सूचना दी गई। आरटीओ ने प्रशांत के आरोपों को निराधार बताया है।

इनका कहना है कि

आरटीओ रघुवंशी ने बस ऑपरेटर प्रशांत दुबे के खिलाफ और दुबे ने आरटीओ के खिलाफ अभद्रता की शिकायत की है। दोनों शिकायतों को जांच में लिया गया है।
अरविंद जैन, थाना प्रभारी, सिविल लाइंस

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned