अंधड़ आए या हो मूसलाधार बारिश, अब नहीं कटेगी बिजली, जानिए कैसे होगा कमाल

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
अंधड़ आए या हो मूसलाधार बारिश, अब नहीं कटेगी बिजली, जानिए कैसे होगा कमाल

पायलट प्रोजेक्ट के तहत जबलपुर सिटी में किसी एक फीडर से होगी शुरुआत

संतोष सिंह @ जबलपुर. अंधड़-बारिश का दंश शहर भुगत रहा है। चार बार आए अंधड़ ने पूरे शहर की बिजली व्यवस्था अस्त-व्यस्त कर दी। आए दिन इस तरह की समस्या से इससे निपटने के लिए बिजली व्यवस्था को अंडरग्राउंड करने का निर्णय लिया गया है। पायलट प्रोजेक्ट के तहत पहले चरण में जबलपुर शहर के किसी एक फीडर में इसे लागू किया जाएगा।
बिजली अधिकारियों ने समीक्षा में पाया कि शहर में बिजली लाइन व खम्भों के आस-पास बड़ी संख्या में पेड़ हैं। इसकी वजह से हल्की हवा से भी बड़ा नुकसान हो जाता है। एेसे में अंडरग्राउंड केबलीकरण करके इस समस्या से निजात पाया जा सकता है।
आरएपीडीआरपी व आईपीडीएस के अंतर्गत होगा काम
शहर को बिजली तारों के जंजाल से मुक्त करने के लिए आरएपीडीआरपी (री-स्ट्रक्चर्ड एक्सलरेटेड पावर डेवलपमेंट एंड रिफार्म प्रोग्राम) और आईपीडीएस (इंट्रीग्रटेड पावर डेवलपमेंट स्कीम) अंडरग्राउंड केबलिंग की जाएगी। इसमें आंधी पानी में भी बिजली कट नहीं होगा। इसके अलावा हुकिंग कर बिजली चोरी की समस्या से भी निजात मिलेगी।
चेयरमैन ने दिए एमडी को निर्देश
वितरण कंपनी के चेयरमैन संजय कुमार शुक्ला ने पूर्व क्षेत्र कंपनी के एमडी मुकेश चंद गुप्ता को बुलाकर अंडरग्राउंड केबलीकरण पर चर्चा की। भोपाल में कुछ क्षेत्रों में अंडरग्राउंड बिजली व्यवस्था की गई है। हालांकि, इसकी लागत अधिक होने से पहले चरण में सर्वाधिक संवेदनशील किसी एक फीडर वाले क्षेत्र का चयन होगा। ये सफल रहा तो प्रदेश के बड़े शहरों में इसे लागू किया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned