UGC NET ने किया बड़ा बदलाव, अब सिर्फ 6% को ही देगी सर्टिफिकेट, जानें क्या है वजह

Lalit kostha

Publish: Jul, 17 2017 01:31:00 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
UGC NET ने किया बड़ा बदलाव, अब सिर्फ 6% को ही देगी सर्टिफिकेट, जानें क्या है वजह

यह नियम इसी साल पांच नवंबर को आयोजित होने वाली परीक्षा से लागू हो जाएगा

जबलपुर।  छात्रों द्वारा विरोध के बावजूद यूजीसी ने नेट परीक्षा क्वालिफाई क्राइटेरिया के नियमों में बदलाव कर दिया है। पहले यूजीसी नेट परीक्षा क्वालिफाई क्राइटेरिया पंद्रह फीसदी होता था, जिसे अब घटाकर छह फीसदी कर दिया गया है। यह नियम इसी साल पांच नवंबर को आयोजित होने वाली परीक्षा से लागू हो जाएगा। यूजीसी ने देशभर की यूनिवर्सिटी और उच्च शिक्षण संस्थानों को बदलाव का पत्र भेजने के साथ ही ऑनलाइन भी जारी कर दिया है। यूजीसी नेट परीक्षा के पेपर 1, पेपर  2 और पेपर 3 में अब छात्रों को नए नियम के तहत नंबर लेने पड़ेंगे। 


पहले तीनों परीक्षा में छात्रों को मिलने वाले कुल अंकों में से टॉप 15 फीसदी वालों को ही क्वालिफाई माना जाता था। अब यह आंकड़ा छह फीसदी का होगा। गौरतलब है कि नेट अब 19 नवंबर के बजाय पांच नवंबर को आयोजित होगी। इस संबंध में 24 जुलाई को अधिसूचना जारी होगी। उम्मीदवार एक अगस्त से 30 अगस्त तक आवेदन कर सकेंगे।

यूजीसी का तर्क
विवि अनुदान आयोग का तर्क है कि छात्र परीक्षा को गंभीरता से नहीं लेते। यही वजह है कि क्वालीफाई छात्रों का आंकड़ा कम रहता है। यूजीसी ने इस संबंध में आंकड़े भी जारी किए हैं।


जून 2015- 4.83%
दिसंबर 2015- 4.96%
जुलाई 2016- 4.08%
जनवरी 2017- 3.99%

आयोग के मुताबिक, इन बदलावों की वजह से भविष्य में नेट योग्यता हासिल करने वाले उम्मीदवारों की संख्या में बढ़ोतरी की संभावना है। केरल हाईकोर्ट के आदेश के बाद मानदंडों और प्रक्रिया में बदलाव किया गया है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned