यहां बनेगा एमपी का पहला फार्मर ट्रेनिंग सेंटर, किसानों को मिलेगा अत्याधुनिक प्रशिक्षण

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
यहां बनेगा एमपी का पहला फार्मर ट्रेनिंग सेंटर, किसानों को मिलेगा अत्याधुनिक प्रशिक्षण

 वीयू के अधिकारियों ने किया स्थल निरीक्षण, निर्माण की तैयारियां शुरू, मंडी बोर्ड फार्म हाउस इमलिया में  कराएगा निर्माण

जबलपुर। वेटरनरी विवि का पहला सर्वसुविधायुक्त फार्मर ट्रेनिंग सेंटर जल्द आकार लेगा। इसके निर्माण की तैयारियां शुरू हो गई हैं। विवि के अधिकारियों ने स्थल का निरीक्षण कर फार्म हाउस इमलिया को उपयुक्त बताया है। यहां प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से आने वाले किसानों, पशु चिकित्सकों को रेसीडेंसियल ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग सेंटर का निर्माण होने से विवि प्रशासन को भी आर्थिक लाभ होगा। 

होंगे 50 कमरे 
360.88 लाख रुपए से बनने वाला फार्मर ट्रेनिंग सेंटर दो मंजिल का होगा। इसमें 50 कमरे होंगे। करीब 1600 वर्ग मीटर में पहली और दूसरी मंजिल का निर्माण होगा। निर्माण कार्य की जिम्मेदारी मंडी बोर्ड को सौंपी गई है। 

आय दोगुनी करने का लक्ष्य
प्रधानमंत्री ने पशुपालकों और किसानों की आय 2020 तक दोगुना करने का लक्ष्य दिया है। लक्ष्य की पूर्ति के 
लिए विश्वविद्यालय में बकरी पालन, मत्स्य पालन, मुर्गी पालन, डेयरी पालन सहित पशु जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए विवि के पास सेंटर उपलब्ध नहीं है। साल भर में 15 से 20 ट्रेनिंग कैम्प का आयोजन किया जाता है।  

फार्म हाउस की स्थिति
- 18 एकड़ में निर्माण
- 1 डिप्लोमा, 1 फिशरी कॉलेज
- 2 कमरे का गेस्ट हाउस
- 4 पोल्ट्री शेड

ये होती है परेशानी
- प्रशिक्षण के लिए अभी नहीं है कोई जगह 
- हर साल एक हजार पशुपालक होते हैं ट्रेंड
- साल में 15 से 20 रेसीडेंसियल ट्रेनिंग
- निजी होटलों में रुकने की समस्या, आने-जाने में परेशानी

इनका कहना है
यह प्रदेश का पहला फार्मर सेंटर होगा। भवन का प्रपोजल तैयार कर लिया गया है। अगले कुछ दिनों में मंडी बोर्ड निर्माण कार्य शुरू करेगा। चार से पांच माह में भवन बनकर तैयार हो जाएगा।  
डॉ. पीडी जुयॉल, कुलपति, वेटरनरी विवि  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned