हाईकोर्ट के निर्देश की धज्जियां उड़ा रहे जिले के डॉक्टर

Piyushkant Chaturvedi

Publish: Apr, 21 2017 11:51:00 (IST)

Janjgir-Champa, Chhattisgarh, India
हाईकोर्ट के निर्देश की धज्जियां उड़ा रहे जिले के डॉक्टर

जिले में एक तरफ स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है तो वहीं दूसरे ओर जिला चिकित्सालय में पदस्थ कुछ डॉक्टर अच्छे चिकित्सक न होने का जमकर फायदा उठा रहे हैं। इन डॉक्टरों में एमडी मेडिसिन डॉ. अनिल जगत और महिला रोग चिकित्सक डॉ. ममता जगत काफी आगे हैं। यह लोग जिला अस्पताल में मरीजों को देखने के साथ ही धडल्ले से खुलेआम प्राईवेट क्लीनिक चला रहे हैं, जबकि हाईकोर्ट ने प्राईवेट प्रैक्टिस न करने के लिए राज्य के सभी शासकीय चिकित्सकों से एक शपथ पत्र भी मांगा था।

जांजगीर-चांपा. जिले में एक तरफ स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है तो वहीं दूसरे ओर जिला चिकित्सालय में पदस्थ कुछ डॉक्टर अच्छे चिकित्सक न होने का जमकर फायदा उठा रहे हैं। इन डॉक्टरों में एमडी मेडिसिन डॉ. अनिल जगत और महिला रोग चिकित्सक डॉ. ममता जगत काफी आगे हैं। यह लोग जिला अस्पताल में मरीजों को देखने के साथ ही धडल्ले से खुलेआम प्राईवेट क्लीनिक चला रहे हैं, जबकि हाईकोर्ट ने प्राईवेट प्रैक्टिस न करने के लिए राज्य के सभी शासकीय चिकित्सकों से एक शपथ पत्र भी मांगा था।

डॉ. अनिल जगत जिला अस्पताल में एमडी मेडिसिन विशेषज्ञ के रूप में पदस्थ हैं। शासन के नियम के मुताबिक इन डॉक्टरों को ओपीडी टाईम पर मरीजों को देखना है और बाकी समय में भर्ती मरीजों का चेकअप राउंड के जरिए लेना है। लेकिन डॉ. जगत व उनकी पत्नी  जिला अस्पताल की ओपीडी से अधिक अपनी निजी प्रैक्टिस पर ध्यान देते हैं। मुख्य मार्ग पर उन्होंने अपना क्लीनिक खोल रखा है और बकायदा उस पर अपना और अपनी पत्नी डॉ. ममता जगत के नाम का बोर्ड लगा रखा है। लोगों का आरोप है कि डॉ. जगत अस्पताल की ओपीडी में मरीजों को काफी कम समय चेकअप के दौरान दे पाते हैं। यही कारण है कि डॉ. जगत के क्लीनिक में लंबी लाइन लगी रहती है।

क्लीनिक के बगल से मेडिकल स्टोर- डॉ. अनिल जगत और डॉ. ममता जगत जिस क्लीनिक में बैठकर लोगों की जांच करते हैं। उसके ठीक बगल से हरी ओम मोडिकल स्टोर भी खोला गया है। यह मेडिकल स्टोर तभी खुलता है, जब डॉ. जगत व उनकी पत्नी वहां बैठते हैं। इन डॉक्टर दंपति के द्वारा ऐसी दवाएं लिखी जाती हैं, जिनमें से अधिकतर दूसरे मेडिकल स्टोर में नहीं मिलती और मजबूरी में मरीजों को मेडिकल स्टोर से ही दवा खरीदना पड़ता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned