एसडीएम ने की भाजपा जनपद सदस्य व पति के खिलाफ कार्यवाही की अनुशंसा

Piyushkant Chaturvedi

Publish: Apr, 21 2017 11:37:00 (IST)

Janjgir-Champa, Chhattisgarh, India
एसडीएम ने की भाजपा जनपद सदस्य व पति के खिलाफ कार्यवाही की अनुशंसा

नवागढ़ जनपद पंचायत में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हितग्राहियों से आवास दिलाने के नाम पर अवैध वसूली करना भाजपा की जनपद सदस्य कृष्णा साहू और उसके पति कन्हैया साहू को महंगा पड़ गया। ग्रामीणों की शिकायत के बाद एसडीएम पामगढ़ ने नायब तहसीलदार को जांज का निर्देश दिया था।

जांजगीर-पामगढ़. नवागढ़ जनपद पंचायत में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हितग्राहियों से आवास दिलाने के नाम पर अवैध वसूली करना भाजपा की जनपद सदस्य कृष्णा साहू और उसके पति कन्हैया साहू को महंगा पड़ गया। ग्रामीणों की शिकायत के बाद एसडीएम पामगढ़ ने नायब तहसीलदार को जांज का निर्देश दिया था। जांच के दौरान पाया गया कि जनपद सदस्य का पति कन्हैया साहू ने पीएम आवास दिलाने के लिए ग्रामीणों से 8 व 7 हजार रुपए कमीशन लिया और जब इसकी शिकायत हुई तो उसने ग्रामीणों को पैसा वापस कर उनसे बचाव के लिए शपथ पत्र ले लिया। जांच रिपोर्ट के आधार पर एसडीएम पामगढ़ इंद्रजीत वर्र्मन ने कलेक्टर के दोनों लोगों के खिलाफ कार्यवाही की अनुशंसा किया है।
पत्रिका ने ग्रामीणों की शिकायत इस खबर को प्रमुखता से उठाया था। जिसके बाद आनन फानन में प्रशासनिक अधिकारियों की नींद खुली और इस मामले की त्वरित जांच शुरू की गई। एसडीएम पामगढ़ इंद्रजीत वर्मन के पास भाजपा नेताओं ने जांच को दबाने का प्रयास भी किया, लेकिन उन्होंने ग्रामीणों की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए सही जांच और सही कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। इस पर जनपद पंचायत सदस्य कृष्णा साहू के पति कन्हैया साहू ने जिन ग्रामीणों से पीएम आवास का लाभ दिलाने के लिए कमीशन लिया था आनन-फानन में उनका पूरा पैसा वापस किया और उन ग्रामीणों से शपथ पत्र भी लिखवा लिया कि उन्होंने कन्हैया साहू को न तो कोई कमीशन दिया है और न ही उसने पीएम आवास का लाभ दिलाने के लिए उनसे पैसों की मांग किया है। जब एडीएम पामगढ़ ने नायब तहसीलदार पामगढ़ को इस मामले की जांच सौंपी और नायब तहसीलदार ने शिकायकर्ताओं का बयान लिया तो सभी ने कहा कि कन्हैया साहू ने उनसे लिए पैसे वापस किए है और उनसे कोरे कागज में हस्ताक्षर व अंगूठा निशान भी ले लिया है। कन्हैया साहू की यह चालाकी उसी के लिए घातक बनी और नायब तहसीलदार ने जांच में पाया कि उनसे पीएम आवास दिलाने के लिए ग्रामीणों से कमीशन लिया था और मामला उछलने पर पैसा वापस कर गलत तरीके से शपथ पत्र भी लिया है।

जांच में यह दिए निर्देश- एसडीएम ने आदेश में स्पष्ट रूप से लिखा कि कृष्णा देवी साहू के पति कन्हैया साहू ने पहले तो हितग्राहियों से पैसे लिए और शिकायत के बाद उन्हें पैसे वापस कर उनसे कोरे कागज में हस्ताक्षर करवा लिया। एडीएम ने पाया कि कन्हैया साहू ने प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों अवैध वसूली मुख्यत: जनपद सदस्य कृष्णा साहू के पति होने की हैसियत से किया। इसलिए कन्हैया के साथ-साथ जनपद सदस्य कृष्णा साहू भी इस कार्य में समान रूप से भागीदार हैं। इसलिए एसडीएम ने जनपद सदस्य कृष्णा साहू के खिलाफ पंचायती राज अधिनियम की धारा-39 एवं 40 के तहत कार्यवाही और उसके पति कन्हैया साहू के खिलाफ दंडात्मक कारर्यवाही की अनुशंसा किया है।

इन लोगों ने की थी शिकायत- पीएम आवास योजना का लाभ दिलवाने के नाम पर आठ व सात हजार रुपए कमीशन लेने की शिकायत कोसला ग्राम पंचायत के निवासी व लाभार्थी गरहन बाई, दरस पटेल, जोहन, महारथी साहू, नगेश्वरी बाई और मोहन साहू ने एसडीएम पामगढ़ से किया था। इनकी शिकायत व पत्रिका की खबर प्रकाशन के बाद एडीएम पामगढ़ ने पूरा मामले की जांच करवाकर कार्यवाही की अनुशंसा किया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned